देश
सुकमा में 19 नक्सलियों का आत्मसमर्पण
By Swadesh | Publish Date: 3/11/2018 2:33:48 PM
सुकमा में 19 नक्सलियों का आत्मसमर्पण

सुकमा। छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास एवं आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित, पुलिस द्वारा चलाये गये नक्सल विरोधी अभियान से दबाव और आंध्रप्रदेश के बड़े नक्सली लीडरों की प्रताड़ना एवं भेदभाव से प्रताड़ित होने के कारण 19 सक्रिय नक्सलियों ने शनिवार की सुबह सुकमा पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पित सभी माओवादी जनमिलिशिया सदस्य हैं और छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हैं।

 
शनिवार को बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा ने बताया कि बस्तर रेंज में लगातार चल रहे नक्सल विरोधी अभियान से नक्सली संगठन पर भारी दबाव बना हुआ है। वहीं सरकार की आकर्षक पुनर्वास एवं आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित होकर समाज की मुख्यधारा में जुड़ने हेतु कुल 19 नक्सलियों फगनू सोढ़ी, लखमा कवासी, दुला सोढ़ी, सोनू मडक़ामी, गुड्डू नाग, राजू कोर्राम, सनकु मड़कामी, सोमारू नाग, कुपति, कवासी बामन, गंगो कुंजामी, लच्छनु नाग, मुईये कवासी, कवासी मासे, मड़कामी लखमे, पुम्मे कोर्राम, सन्नी कवासी, सोमड़ी माड़वी, माड़वी कोसी ने आत्मसमर्पण किया है। 
 
उक्परोक्त नक्सलियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत अपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। समर्पण करने वाले नक्सलियों में ज्यादातर लोग जनमिलिशिया सदस्य हैं। इनमें से दो नक्सली स्थायी वारंटी भी। सरेंडर करने वाले सभी नक्सलियों को दस-दस हजार रूपए की आर्थिक सहायता दी जा रही है। यहां यह भी उल्लेख करना लाजिमी होगा कि शुक्रवार को ही इसी जिले में 11 महिलाओं समेत 53 नक्सली जनमिलिशिया सदस्यों ने पुलिस के समक्ष हथियार डाले थे। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS