देश
मिजोरम कांग्रेस को बड़ा झटका, विधानसभा अध्यक्ष हिफेई भाजपा में शामिल
By Swadesh | Publish Date: 5/11/2018 4:13:24 PM
मिजोरम कांग्रेस को बड़ा झटका, विधानसभा अध्यक्ष हिफेई भाजपा में शामिल

आइजोल (मिजोरम)। मिजोरम प्रदेश कांग्रेस को सोमवार को उस समय एक और बड़ा झटका लगा जब 7 बार के विधायक, दो बार राज्यसभा सदस्य, मिजोरम सरकार के कैबिनेट मंत्री रहे तथा वर्तमान में मिजोरम विधानसभा के अध्यक्ष हिफेई कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। हिफेई के भाजपा में शामिल होने से दक्षिण मिजोरम में भाजपा की स्थिति मजबूत हो गई है। राजनीति के जानकारों का कहना है कि दक्षिण मिजोरम के बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता अब भाजपा में शामिल हो जाएंगे, क्योंकि दक्षिण मिजोरम में हिफेई का मजबूत जनाधार है। 

 
भाजपा में शामिल होने के बाद प्रदेश मुख्यालय में सोमवार को भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए हिफेई ने तालियों की गूंज के बीच अपने प्रभावशाली संबोधन में बताया कि किस तरह से मुख्यमंत्री लाल थनहावला और कांग्रेस पार्टी मिजोरम के हितों की अनदेखी कर रही है। अपने संबोधन में उन्होंने मुख्यमंत्री लाल थनहावला के तानाशाही रवैया एवं सरकार की गलत नीतियों पर विस्तार से प्रकाश डाला।
 
उन्होंने कहा कि कुछ मंत्रियों एवं कांग्रेस के नेताओं द्वारा अपनी जेब में पार्टी को चलाने की कोशिश की जा रही है। कांग्रेस के शासनकाल में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। यही वजह है कि राज्य की स्थिति चरमराई हुई है। अपने लंबे संबोधन में उन्होंने कहा कि कांग्रेस मिजोरम के हित में नहीं बल्कि अपने नेताओं के हित में सरकार चलाती रही है। जिसका वे विरोध करते रहे हैं। यही वजह है कि मुख्यमंत्री लाल थनहावला के साथ उनकी बनती नहीं है। विधानसभा अध्यक्ष हिफेई का भाजपा में जोरदार स्वागत किया गया। उनके भाजपा में शामिल होने से भाजपा कार्यकर्ताओं का उत्साह और अधिक बढ़ गया है। हिफेई को मिजोरम प्रदेश कांग्रेस का दिमाग माना जाता था। उनके भाजपा में आने से पार्टी को चुनाव के मौके पर बड़ा झटका लगा है। उल्लेखनीय है कि इससे दो सप्ताह पूर्व राज्य के पूर्व कैबिनेट मंत्री तथा कांग्रेस विधायक बीडी चकमा कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। धीरे-धीरे मिजोरम में भाजपा का आधार अब मजबूत होने लगा है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS