देश
मनोज तिवारी हिंसा के मकसद से रविवार को सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन पर गए थे :आप
By Swadesh | Publish Date: 5/11/2018 4:41:36 PM
मनोज तिवारी हिंसा के मकसद से रविवार को सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन पर गए थे :आप

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा सांसद मनोज तिवारी हिंसा के मकसद से रविवार को सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन पर गए थे। आप के प्रवक्ता दिलीप पाण्डेय और आप नेता अतिशी ने सोमवार को प्रेसवार्ता में यहां कहा कि रविवार को सिग्नेचर ब्रिज पर हुई घटना, भाजपा की बौखलाहट और हार के डर का नतीजा है| भाजपा का असली हिंसक चेहरा रविवार को दिखा। दिल्ली में भाजपा बुरी तरह से बौखलाई हुई है। सांसद मनोज तिवारी को भगवान बनने से पहले भक्त बनना सीखना होगा।

 
नेता द्वय ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार ने जो सिलसिला संघीय ढांचे को ताक पर रखने का शुरु किया है उसका प्रति उत्तर हमारी ओर से सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के मौके पर दिया गया तो भाजपा वालों को मिर्ची लग गई। दिल्ली सरकार के अधीनस्थ पीडब्लूडी द्वारा बनाये गए निर्माण में सीएम को नहीं बुलाया जाता है। उसी तरह का व्यवहार जब हमारी ओर से किया गया तो भाजपा के लोगों ने पुलिस-प्रशासन के साथ मारपीट किया। यह पूरी तरह से पूर्व नियोजित था।
 
दोनों नेताओं ने कहा कि पुलिस की मौजूदगी में एक चुने हुए मुख्यमंत्री की सभा में स्टेज के बगल तक प्रदर्शनकारियों को कैसे आने दिया गया। दिल्ली के चुने हुए मुख्यमंत्री पर एक मॉब अटैक होने की स्थिति बनने दी गई। ऐसा पुलिस की मौजूदगी में कैसे हुआ? ये सब स्पष्ट करता है कि भाजपा अब बौखला रही है कि वो दिल्ली में सातों सीट हारने वाली है। चाहे वोटर लिस्ट से 10 लाख नाम गायब होना हो, भाजपा सांसद के द्वारा पूर्वांचली पदाधिकारी से मारपीट या फिर सिग्नेचर ब्रिज का मामला हो अब देखना ये है कि कार्यवाही किस पर पहले होगी? पुलिस अधिकारी को एक सांसद को पीटे जाने पर या फिर भाजपा सांसद द्वारा दबंगई करने पर।
 
इस बीच भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने इस बाबत आप विधायक अमानुल्लाह खान समेत अज्ञात आप कार्यकर्ताओं के खिलाफ अभद्रता करने की रिपोर्ट दर्ज करा दी है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS