देश
भारत के निर्माण में अंबेडकर की भूमिका अविस्मरणीय: ममता
By Swadesh | Publish Date: 6/12/2018 11:00:03 AM
भारत के निर्माण में अंबेडकर की भूमिका अविस्मरणीय: ममता

कोलकाता। समृद्ध भारत के निर्माण में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की भूमिका हमेशा ही अविस्मरणीय बनी रहेगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यह दावा गुरुवार को अपने बयान में किया है। बाबासाहेब डॉ भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि के मौके पर मुख्यमंत्री ने एक बयान जारी किया है। इसमें उन्होंने कहा है कि 'आज डॉ बाबासाहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि है। मैं उन्हें श्रद्धांजलि दे रही हूं। भारत के निर्माण में उनकी भूमिका अविस्मरणीय है। आने वाली पीढ़ियां हमेशा उन्हें याद रखेंगी।'

 
 
भीमराव रामजी आम्बेडकर, बाबासाहब आम्बेडकर नाम से लोकप्रिय, भारतीय विधिवेत्ता, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ, और समाज सुधारक थे। उन्होंने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और अछूतों (दलितों) से सामाजिक भेदभाव के विरुद्ध अभियान चलाया था। श्रमिकों, किसानों और महिलाओं के अधिकारों का समर्थन भी किया था। वे स्वतंत्र भारत के प्रथम विधि एवं न्याय मंत्री, भारतीय संविधान के जनक एवं भारत गणराज्य के निर्माता थे। आम्बेडकर विपुल प्रतिभा के छात्र थे। उन्होंने कोलंबिया विश्वविद्यालय और लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स दोनों ही विश्वविद्यालयों से अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट की उपाधियाँ प्राप्त कीं तथा विधि, अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान में शोध कार्य भी किये थे।
 
व्यावसायिक जीवन के आरम्भिक भाग में ये अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रहे एवं वकालत भी की तथा बाद का जीवन राजनीतिक गतिविधियों में अधिक बीता। तब भीमराव भारत की स्वतंत्रता के लिए प्रचार और चर्चाओं में शामिल हो गए और पत्रिकाओं को प्रकाशित करने, राजनीतिक अधिकारों की वकालत करने और दलितों के लिए सामाजिक स्वतंत्रता की वकालत और भारत के निर्माण में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS