देश
राम मंदिर निर्माण में कांग्रेस करा रही देरी : गिरिराज सिंह
By Swadesh | Publish Date: 6/12/2018 3:54:33 PM
राम मंदिर निर्माण में कांग्रेस करा रही देरी : गिरिराज सिंह

कानपुर। राम मंदिर 100 करोड़ हिन्दुओं की आस्था का प्रतीक है। करोड़ों हिन्दुओं की भावना को देखते हुए भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर अयोध्या में बनेगा। इस पर कोई कुछ भी कहे, कोई फर्क नहीं पड़ता। कांग्रेस पार्टी नहीं चाहती है कि जल्द मंदिर निर्माण हो, इसलिए देरी हो रही है। यह बात गुरुवार को कानपुर जनपद आये केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गिरिराज सिंह ने कही। 

 
उन्होंने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा नवजोत सिंह सिद्धू की जनसभा में पाक जिन्दाबाद के नारे लगाये जा रहे हैं। सिद्धू जैसे लोगों के कार्यक्रमों के डायरेक्टर राहुल गांधी हैं। देश की जनता कांग्रेस व राहुल के इरादों को समझ चुकी है। जनता उनके मंसूबों में अब फंसने वाली नहीं है। पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को मुंह की खानी पड़ेगी। 
 
टूल रुम का निरीक्षण कर अफसरों को चेताया
कानपुर दौरे पर आये केन्द्रीय मंत्री फजलगंज स्थित टूल रूम का निरीक्षण करने पहुंचे। यहां पर उन्होंने निरीक्षण के बाद पत्रकारों से रुबरु होकर कहा कि देश के अंदर 15 टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट सेंटर की शुरुआत की जानी है। इनमें 10 का इस साल दिसम्बर माह के अंत तक संचालित किये जाने का लक्ष्य रखा गया था, जिनमें से नौ का संचालन की स्थिति में आ गए हैं। कानपुर में टूल रुम की दशा को देखने के बाद काफी निराश हूं। यह चिंताजनक है। इसको लेकर अफसरों को चेतावनी दी गई है। अगर हालात जल्द ठीक नहीं हुए तो निष्क्रिय अफसरों पर कार्यवाही की जाएगी। 
 
मंत्री ने अफसरों को कानपुर में निश्चित समय सीमा पर काम पूरा कराते हुए इसकी शुरुआत कराने के कहा। मौके पर मौजूद एमएसएमई विभाग व टाटा कंसलटेंसी के अफसरों ने मंत्री को जानकारी दी कि यहां पर जमीन नहीं मिलने चलते का देरी हो रही है। जल्द से जल्द इसका काम पूरा कराते हुए कार्ययोजना पर अमल करा दिया जाएगा। 
 
प्रधानमंत्री के सपनों से जोड़ें जाए किसानों-उद्यमियों को
केंद्रीय राज्यमंत्री निरीक्षण के बाद पत्रकार वार्ता की। इसमें उन्होंने कहा कि जल्द एमएसएमई मंत्रालय एग्रो इंजीनियरिंग, एग्रो नैनोपार्टिकल, फर्टिलाइजर की कार्ययोजना पर काम किया जाएगा। इस योजना में एमएसएमई आईआईटी, कृषि अनुसंधान संस्थान के साथ काम करेगा और उनकी मदद से प्रधानमंत्री के सपने को किसानों व उद्यमियों से जोड़कर लाभ पहुंचाया जाए। ताकि देश के आर्थिक विकास को मजबूत किया जा सके। उन्होंने बताया कि उनके विभाग को इसके लिए बजट के रुप में छह हजार करोड़ रुपये मिल चुके हैं। इस मौके पर एमएसएमई निदेशक यूसी शुक्ला, एफएफडीसी के सहायक निदेशक डॉ.भक्ति विजय शुक्ला, राकेश पात्रा, पप्पी पांडेय, जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत आदि मौजूद थे। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS