देश
आरपीएफ ने 625 पर बनाया केस, रेलवे ने डेढ़ लाख जुर्माना वसूला
By Swadesh | Publish Date: 10/1/2019 4:08:58 PM
आरपीएफ ने 625 पर बनाया केस, रेलवे ने डेढ़ लाख जुर्माना वसूला

फरीदाबाद। बीते वर्ष 2018 में फरीदाबाद से पलवल के बीच रेलवे ट्रैक पार करते हुए रेल की चपेट में आने पर 353 जिंदगियां समाप्त हो गईं और 86 लोग अपाहिज हो गए। आरपीएफ ने 147 रेलवे एक्ट के उल्लंघन के मामले में गत वर्ष 625 मामले बनाए और करीब डेढ़ लाख का जुर्माना ऐसे लोगों से वसूल किया जिन्हें एक्ट का उल्लंघन करते हुए व ट्रैक पार करते पकड़ा गया।

 
ऐसे लोग आज भी रेलवे के लिए सिरदर्द बने हुए हैं क्योंकि इतनी मौतों के बावजूद स्मार्ट सिटी के लोगों ने सबक नहीं लिया है और हर रोज जान जोखिम में डालकर रेलवे ट्रैक पार कर रहे हैं, जबकि इन दिनों कोहरे के चलते ट्रैक पर आती रेल गाड़ियां इन लोगों को दिखाई नहीं देती और दुर्घटना घटित हो जाती है। 
 
आरपीएफ की मुस्तैदी के बाद भी गत वर्ष 2017 की अपेक्षा 2018 में रेलवे ट्रैक पार करते हुए अधिक मौतें हुई। आंकड़ों पर नजर डालें तो वर्ष 2017 में 236 लोगों की मौत ट्रैक पार करते हुए हुई, जबकि 2018 में यह आंकड़ा बढ़कर 353 तक पहुंच गया वहीं घायलों में भी गत वर्ष 76 लोग अपाहिज हुए थे, जो 2018 बढक़र 86 हो गए वहीं जुर्माने के मामले में गत वर्ष की अपेक्षा रेलवे ने 625 लोगों पर जुर्माना किया जो पिछले वर्ष से अधिक रहा। 
 
फरीदाबाद जोन में फरीदाबाद, न्यू टाऊन, बल्लभगढ़ और पलवल चार प्रमुख स्टेशन शामिल है। इन सभी स्टेशनों पर सुविधाओं का अभाव होने से रेलवे की इन हादसों की जिम्मेदारी मानी जा सकती है। आलम यह है कि स्टेशन पर डिस्प्ले बोर्ड, कोच इंडीकेटर और गाडिय़ों का समय पर स्टेशन नहीं पहुंचने के चलते अंतिम समय में प्लेटफार्म बदले जाने की उद्घोषणा से यात्री इस तरह के गैर जिम्मेदाराना कदम उठाते है, जिससे लोगों की रेलवे ट्रैक पार करते हुए दुर्घटना में ट्रेन से कटकर मौत हो जाती है या अपाहिज हो जाते है। 
 
आरएपीएफ फरीदाबाद के निरीक्षक ओमप्रकाश का कहना है कि हम लोगों को समझाते हैं कि वह रेलवे ट्रैक पार करने के बजाय फुटओवर ब्रिज से होकर दूसरे प्लेटफार्म पर पहुंचे, वहीं जो लोग एक्ट का उल्लंघन करते हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई कर जुर्माना करते हैं। साल 2018 में 625 लोगों पर जुर्माना किया, लेकिन दुर्घटना में 353 लोगों की प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रुप से मौत हुई और 86 लोग घायल हुए। 
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS