देश
हिमाचल: जयराम ठाकुर ने पेश किया 44,387.73 करोड़ का बजट
By Swadesh | Publish Date: 9/2/2019 3:43:31 PM
हिमाचल: जयराम ठाकुर ने पेश किया 44,387.73 करोड़ का बजट

शिमला। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विधानसभा में वित वर्ष 2019-20 के लिए 44,387.73 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। यह उनका दूसरा बजट था। इसमें कई लोकलुभावनी योजनाओं की घोषणा की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट में हर क्षेत्र को छूने की कोशिश की गई है। बजट में सामाजिक और कृषि क्षेत्र पर विशेष फोकस किया गया है। ठाकुर ने इस बजट को गरीबों के कल्याण का बजट कहा है। 

 
विधानसभा में बजट पेश करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 2019-20 में राजस्व प्राप्ति 33,747 करोड़ रुपये संभावित है और राजस्व व्यय 36,089 करोड़ रुपये सम्भावित है। वहीं राजस्व घाटा 2,342 करोड़ रुपये और वित्तीय घाटा 7,352 करोड़ रुपये होने की संभावना है। वित्तीय घाटा का 4.3 प्रतिषत होने का अनुमान है। 2019-20 में 5069 करोड़ रुपये कर्ज लेने का अनुमान है।
 
यह बजट पिछले बजट के मुकाबले तीन हजार करोड रुपये के लगभग अधिक है। जो 2018-19 के मुकाबले 7 प्रतिशत अधिक है। 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि सबका साथ सबका विकास ही सरकार का मूलमंत्र है। इसी आधार पर आगे भी सरकार काम करेगी। सरकार नई योजनाओं के लिये उचित वित्तीय प्रबंधन करेगी ताकि विकास की गति को और बढ़ावा मिले और केन्द्र की सहायता से सरकार की सभी प्राथमिकताओं पर कार्य किया जा सके। 
 
बजट अनुमानों के अनुसार प्रति 100 रुपये में से विकास पर 39.56 रुपये खर्च होंगे। जबकि वेतन पर 27.84, पैंशन पर 15, ब्याज अदायगी पर 10.25, ऋण अदायगी पर 7.35 रुपये खर्च किए जाएंगे। 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2019-20 के दौरान कुल राजस्व प्राप्तियां 33 हजार 747 करोड रहने का अनुमान है। जबकि कुल राजस्व व्यय 36 हजार 89 करोड़ अनुमानित है। कुल राजस्व घाटा दो हजार 342 करोड़ अनुमानित है। जबकि राजकोषीय घाटा सात हजार 352 करोड़ रहने का अनुमान है, जोकि प्रदेश की जीडीपी का 4.35 फीसदी होगा। अगले वित वर्ष के दौरान शुद्व ऋण पांच हजार 068 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। 
 
जयराम ठाकुर ने बजट में आपातकाल के दौरान मीसा के अन्तर्गत हुई गिरफ्तारियों से प्रताड़ित व्यक्तियों को 11,000 रुपये वार्षिक लोक तंत्र प्रहरी सम्मान राशि प्रदान करने की घोषणा की है। 
 
इसके अतिरिक्त आर्थिक रूप से पिछड़े सामान्य वर्ग के परिवारों को, नौकरी व शौक्षणिक संस्थानों में 10 प्रतिष्शत आरक्षण दिया जाएगा। सामाजिक सुरक्षा पैंशन को 750 रुपये से बढ़ाकर 850 रुपये प्रतिमाह और 1,300 रुपये प्रतिमाह पैंषन राषि को बढ़ाकर 1,500 रुपये प्रतिमाह किया गया। 05 लाख से अधिक परिवारों को सीधा लाभ।
 
बजट में हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना और केन्द्रीय उज्जवला योजना के लाभार्थियों को एक अतिरिक्त गैस रिफिल मुफ्त दिया जाएगा। 2.00 लाख महिलाओं को फायदा। केन्द्र की उज्जवला योजना के नए लाभार्थियों को प्रदेश सरकार अपने संसाधनों से गैस, चूल्हा और पाइप देगी।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS