Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
देश
आज दुनिया के सामने आतंकवाद सबसे बड़ी चुनौती: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
By Swadesh | Publish Date: 24/4/2019 3:32:32 PM
आज दुनिया के सामने आतंकवाद सबसे बड़ी चुनौती: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

बोले, आपके चौकीदार ने पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दिया है

लोहरदगा (झारखंड)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्रीलंका में हुए आतंकी हमलों पर चिंता जताते हुए कहा कि आज दुनिया के सामने आतंकवाद सबसे बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहा, 2014 से पहले भारत भी इसी स्थिति से गुजर रहा था। पाकिस्तान हमला करता था। कांग्रेस डरते हुए आतंकवाद का मुकाबला करती थी मगर आपके चौकीदार ने पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दिया है। चौकीदार ने पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकवादियों को मारा है। हर आतंकी के मन में अब डर है कि गलती की तो यह मोदी पाताल से खोजकर ठिकाने लगाएगा। उन्होंने यह बात बीएस कॉलेज मैदान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार सुदर्शन भगत के समर्थन में आयोजित जनसभा में कही।

 
प्रधानमंत्री ने कहा कि मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारा जहां भी लोग जाते हैं, वह कोई मायने नहीं रखता। हम सब हिन्दुस्तानी हैं और हर भारतीय की सेवा हमारा कर्तव्य है। बिना पंथ देखे उसके जीवन को आसान बनाना हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि इरान में दक्षिण के राज्यों की कुछ बेटियां नर्स का काम कर रही थीं। वह वहां फंस गई थीं। सभी बेटियां अपने चौकीदार की थीं। इसलिए सभी बेटियों को भारत सरकार ने वापस लाने का काम किया। अफगानिस्तान में फंसे फादर टॉम को मुक्त कराया। डिसूजा को भी मुक्त कराकर कोलकाता में उनके परिवार को सुपुर्द किया। 
 
उन्होंने कांग्रेस पर तीखा प्रहार किया। कहा, महामिलावटी सेना पर भी सवाल उठाते हैं। वीरता का प्रमाण मांगते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के पुत्र और कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमार स्वामी कहते हैं कि फौज में वही नौजवान जाता है, जिसे दो वक्त की रोटी नसीब नहीं होती। ऐसी सोच रखने वाले महामिलावटियों के बारे में देश को सोचना चाहिए। उन्होंने सवाल किया कि गुमला के शहीद विजय सोरेंग को क्या दो वक्त का खाना नहीं मिलता था? कहा, महामिलावटी लोग शहीदों का अपमान कर रहे हैं। कांग्रेस का भी वीरों के प्रति यही रवैया रहा है। कांग्रेस ने कभी बाबा साहब और सरदार वल्लभ भाई पटेल जैसे नेताओं की तारीफ नहीं की, बल्कि नामदारों के हित में फैसला लिया और गरीबों की परवाह नहीं की। 
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि जब तक आपका यह चौकीदार है तब तक आदिवासियों के जंगल, जमीन और अधिकार पर कोई पंजा हाथ नहीं लगा सकता। कांग्रेस ने जंगल और माइंस को माफिया के हवाले कर दिया था। केंद्र सरकार ने खनिज से होने वाली आमदनी का एक हिस्सा स्थानीय विकास पर खर्च करने का काम किया है। इससे झारखंड को चार हजार करोड़ रुपये मिले हैं। उन्होंने कहा, कांग्रेस को शक्ति देने का मतलब कल्याणकारी योजनाओं का बंद होना है। छत्तीसगढ़ में आयुष्मान भारत योजना बंद कर दी गई है। मध्य प्रदेश और राजस्थान में प्रधानमंत्री किसान योजना ठीक से लागू नहीं की गई। इसलिए आप सभी कमल के बटन को दबाकर मजबूत सरकार बनाएं।
 
नरेन्द्र मोदी ने कहा मंगलवार को रांची हवाई अड्डा से बिरसा चौक तक रोड शो के दौरान लोगों से मिले आशीर्वाद के लिए वह सिर झुकाकर जनता को नमन करते हैं। उन्होंने कहा कि बुधवार सुबह भी राजभवन से एयरपोर्ट तक वैसा ही हुजूम देखने को मिला। उन्होंने कहा लहर किसको कहते हैं, यह झारखंड के लोगों ने दिखा दिया। उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री बनने के बाद कई बार झारखंड आए लेकिन इस बार लोहरदगा में जो जन सैलाब दिखा वैसा पहले नहीं दिखा था। उन्होंने कहा कि यह लहर नहीं ललकार है। इस जनसभा पर नजरें गड़ाए बैठे दिल्ली वाले महामिलावटी लोगों में हड़कंप मच गया है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS