देश
गरीब, किसान और बेरोजगार के गठबंधन से घबरा गयी भाजपा: अखिलेश यादव
By Swadesh | Publish Date: 24/4/2019 6:07:57 PM
गरीब, किसान और बेरोजगार के गठबंधन से घबरा गयी भाजपा: अखिलेश यादव

कानपुर। उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के पहले, दूसरे और तीसरे चरण के हुए मतदान की गूंज भाजपा को परेशान कर रही है। यह गूंज पूरे उत्तर प्रदेश में पहुंच रही है और गठबंधन भारी मतों से जीत रहा है। इसी के चलते भाजपा के लोग महामिलावट कहते हैं, जबकि उन्होंने स्वयं 38 पार्टियों से गठबंधन किया हुआ है। हमारा गठबंधन तो गरीब, किसान और बेराजगार का है और इसीलिए भाजपा घबराई हुई है। यह बातें बुधवार को कानपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कही। 

 
लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत 29 अप्रैल को कानपुर जनपद की कानपुर नगर और अकबरपुर लोकसभा सीट में मतदान होना है। चुनाव प्रचार के महत्वपूर्ण समय बुधवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानपुर नगर सीट के उम्मीदवार रामकुमार निषाद के पक्ष में बुधवार को जीआईसी मैदान में जनसभा की। उन्होंने कहा कि उप चुनाव के परिणाम में गठबंधन ने अपनी ताकत दिखा दी है। हमारा गठबंधन गरीब किसान और बेरोजगारों का है। हम लोग जनता से जुड़े मुद्दों और विकास की बात करते हैं और भाजपा पाकिस्तान की बात करती है। जबकि आतंकवाद को लेकर जो भी कुछ हुआ उसका श्रेय हमारी सेना को जाता है, पर भाजपा वाले सेना को भी भुना रहे हैं। हम लोग सेना की बहादुरी का सदैव सम्मान किया है और करते रहेंगे। 
 
उन्होंने मंच से सवाल किया कि जनता से जुड़े मुद्दे उठाना गलत है क्या, आखिर राजनीति का मुख्य उद्देश्य क्या होता है। अखिलेश ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में आप के यहां भाजपा के बड़े-बड़े नेता आए थे आप से कई वादे किए थे। बताओ अच्छे दिन किसके आ गए है। अच्छे दिन सिर्फ एक परसेंट लोगों के आए हैं। अखिलेश ने कहा कि बताओ 
 
नोटबंदी को लेकर मैंने कहा था कि हमारा आप का रुपया काला-सफेद नहीं होता सिर्फ हमारा आप का लेनदेन काला सफेद होता है। बताओ क्या विदेशों से काला धन आया। भारत की आज स्थित यह हो गयी है कि मोदी सरकार की गलत नीतियों के चलते 36000 से ज्यादा व्यापारी और उद्योगपति देश छोड़कर चले गए हैं। नोटबन्दी और जीएसटी से छोटा कारोबारी खत्म हो गया। सपा अध्यक्ष ने कहा कि ऐसे में कानपुरवासियों से मेरी अपील है कि आगामी 29 अप्रैल को साइकिल का बटन दबाकर सपा को भारी मतों से जीत दर्ज करायें। इसके साथ ही कानपुर की दूसरी लोकसभा सीट अकबरपुर में बसपा उम्मीदवार निशा सचान को जिताने का काम करें। बसपा और सपा को वोट एक दूसरे को जा रहा है भाजपा के भ्रम से दूर रहें।
 
बाबा को अब गाय माता नहीं आती याद
अखिलेश ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में गाय माता को लेकर बाबा मुख्यमंत्री ने बहुत भाषण दिया था। लेकिन अब उन्हे गाय माता की याद नहीं आती है और किसान रखवाली करते करते परेशान हो गया है। सड़कों पर जानवरों के होने से वाहन चलाना मुश्किल हो गया है। मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि बाबा मुख्यमंत्री से हरदोई में एक सांड शिकायत लेकर पहुंच गया था, तो उसे भी भगा दिया गया। आखिरकार बाबा को उस सांड की शिकायत को भी तो सुनना चाहिये था। 
 
स्मार्ट सिटी में घूम रहे जानवर
कानपुर को स्मार्ट सिटी का दर्जा दिये जाने पर तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा कि आखिर आप लोग बतायें कि यहां पर क्या काम हुआ है। जब से भाजपा सरकार ने कानपुर को स्मार्ट सिटी घोषित किया तब से मैं कई बार कानपुर आ चुका हूं। मुझे तो कोई बदलाव नहीं दिखा हां यह जरुर दिखा कि स्मार्ट सिटी में जानवर घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी उन शहरों को स्मार्ट सिटी मानती है जहां जानवर सड़कों पर घूमते हो। बताओ कूड़ा हटा या वैसे का वैसे ही पड़ा हुआ है। बीजेपी ने कहा था कूड़ा हटाएंगे लेकिन बीजेपी ने तो यहां से सांसद को ही हटा दिया। 
अखिलेश ने कहा कि समाजवादियों ने कानपुर को स्मार्ट सिटी बनाने का काम शुरु किया था जिसे बाबा मुख्यमंत्री ने बंद करने का काम किया है। ट्रांस गंगा सिटी का उदाहरण देते हुए कहा कि अगर समाजवादियों की सरकार होती तो अब तक वह बन गयी होती। जिससे कानपुर का नाम रोशन होता और यहां के लोगों को सुविधाएं मिलने लगती।
 
सपा सरकार ने कानपुर को दी मेट्रो
अखिलेश ने कहा कि हमने कानपुर को मेट्रो दी थी क्योंकि आप लोग मेट्रो से चले। हमने लखनऊ, गाजियाबाद नोएडा-ग्रेटर नोएडा में मेट्रो दी। हमारे बाबा मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को धोखा दे दिया जहां टेंडर नहीं हुआ उसका शिलान्यास करा दिया। हमारे बाबा मुख्यमंत्री बताएं कि कानपुर मेट्रो का किसको टेंडर दिया गया है।
 
बाबा की ठोको नीति से कानून व्यवस्था ध्वस्त
अखिलेश ने कहा कि अब ना जाने पुलिस को कौन सी बीमारी हो गई। हमारे बाबा मुख्यमंत्री ने ठोको नीति लागू की तो अब जहां पुलिस को मौका मिल रहा वो ठोक रही है और जहां जनता को मौका मिल रहा है तो वो ठोक रही है। हमारे बाबा मुख्यमंत्री की ठोको नीति का ही परिणाम है कि बीजेपी सांसद ने विधायक को 21 जूतों की सलामी दी थी। हमें चौकीदार और ठोकीदार दोनों को हटाना है। डायल 100 नम्बर भी हमारा खराब कर दिया गया, हमारे बाबा मुख्यमंत्री को समझ नहीं आता कि कैसे चलती है 100 नम्बर। हमने न्यूयॉर्क से देख कर उत्तर प्रदेश में 100 नम्बर व्यवस्था लागू की थी। जिससे अपराध पर अंकुश लग रहा था और आज स्थिति यह है प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की चीज ही नहीं है। 
 
नेता जी ने दिये एयरफोर्स को सबसे अच्छे विमान
मुलायम सिंह यादव के रक्षा मंत्रित्व काल को याद करते हुए अखिलेश ने कहा कि नेता जी ने एयर फोर्स को सबसे अच्छे विमान दिए थे। हम सेना का सम्मान करते हैं। कांग्रेस के लोग तो माफी मांग रहे हैं चौकीदार को लेकर। आज तक 56 इंच वाली सरकार कितनों का सिर लाई है। जब से बीजेपी आई है हर रोज एक जवान शहीद हो रहा है। वहीं पाकिस्तान की खीर भी हमारे प्रधानमंत्री खा रहे हैं। वहीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर कहा कि साध्वी ने शहीद आईपीएस हेमंत करकरे का अपमान किया है। बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि ठीक से तोप नहीं बना पा रहे हैं तो बताओ यह लोग कौन सा डिफेंस कॉरिडोर बना रहे हैं। 
 
मुख्यमंत्री नहीं चला पाते लैपटॉप
अखिलेश ने कहा कि हमने लैपटॉप भी बांटे हैं, जहां भी होंगे आज भी लैपटॉप चल रहे है कि नहीं। याद है कि यह बीजेपी के लोग कह रहे थे कि उन्होंने सिर्फ मुसलमानों को बांटे हैं। हमारे बाबा मुख्यमंत्री लैपटॉप चलाना ही नहीं जानते। जिसको तकनीक की जानकारी नहीं होगी तो वह क्यों लैपटॉप देगा। इसी के चलते छात्रों को लैपटॉप दिया जाना बंद कर दिया गया। अखिलेश ने कहा कि एलईडी बल्ब की योजना भी समाजवादी सरकार में आई थी। बताओ नवीन मार्केट सुंदर हो गई है कि नहीं। उन्होंने कहा कि साथियों आप को बीजेपी और कांग्रेस से सावधान रहना है। समाजवादी को अगर किसी ने धोखा दिया है तो वो कांग्रेस है। कांग्रेस और बीजेपी एक जैसी पार्टी हैं। बीजेपी और कांग्रेस के लोग डरा कर राजनीति करते हैं। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS