देश
हमें तो दिल जीतना हैं, दल तो अपने आप जीत जाएगा: नरेन्द्र मोदी
By Swadesh | Publish Date: 26/4/2019 11:16:10 AM
हमें तो दिल जीतना हैं, दल तो अपने आप जीत जाएगा: नरेन्द्र मोदी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में नामांकन के पूर्व भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को बूथ जीतने का गुरुमंत्र दिया। कार्यकर्ताओं से किसी भी दल के नेता की आलोचना न करने की नसीहत देते हुए मोदी ने कहा कि चाहे कोई मोदी को कितनी भी गाली दे,आप कुछ मत कहना। चाहे जितनी भी गंदगी हो, मैं उससे खाद बना लेता हूं और उसमें 'कमल' खिलाता हूं। हमें दिल जीतने हैं, दल तो अपने आप जीत जाएगा।

 
प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यकर्ताओं को अनुशासन का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि किसी भी दल के उम्मीदवार की आलोचना न करें। पहली बार मतदाता बने लोगों का एक सूची बनाकर उनको अपने से जोड़ें। चाहे वह किसी दल का हो, उसे गुड़ खिलाकर उसका मुंह मीठा कराएं। प्रधानमंत्री ने कार्यकर्ताओं से कहा कि एक-एक वोट बहुत महत्वपूर्ण होता है। कार्यकर्ता के नाते आपकी कठिनाई बहुत है। उन्होंने कहा कि जनता पांच साल के अनुभव के आधार पर अनेक आशा, आकांक्षा लेकर हमसे जुड़ गई है। जनता ने पूरे देश के राजनीतिक चरित्र को बदल दिया है।
 
उन्होंने कहा कि हमारे देश में इतने चुनाव हुए, लेकिन इस चुनाव के बाद राजनीतिक पंडितों को माथापच्ची करनी पड़ेगी। क्योंकि आजादी के बाद पहली बार सत्ता पक्ष के लिए लहर दिखाई दे रही। जनता सरकार बनाती है, चलाना हमारी जिम्मेदारी है। हम उस जिम्मेदारी को निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में जो दायित्व हैं उसे निभा रहा हूं। सांसद के रूप में भी सजग हूं। आज हमारी पार्टी के लिए आप कार्यकर्ता जिम्मेदार हैं। हम सभी भारत मां के छोटे-छोटे सिपाही हैं। कृष्ण ने हमें संठगन में रखना सिखाया है।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि पांच साल तक प्रधानमंत्री रहने के बावजूद एक कार्यकर्ता के रूप में काम किया। पांच साल में कार्यकर्ता और नरेंद्र मोदी के रूप में पार्टी ने जितना समय मांगा, मैंने दिया। कार्यकर्ताओं के त्याग को याद कर उन्होंने कहा कि देश भर के कार्यकर्ताओं की मेहनत है कि आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक काशी घाट से पोरबंदर तक उत्साह का माहौल है। देश में लोग खुद कह रहे हैं, फिर एक बार मोदी सरकार। प्रधानमंत्री ने वाराणसी के कार्यकर्ताओं की सराहना कर कहा कि यहां आने के बाद डगर-डगर मैं अनुभव करता था कि काशी के कार्यकर्ताओं ने इतनी गर्मी में घर-घर जाकर सबसे मेरे लिए आशीर्वाद मांगे।
 
उन्होंने कहा कि मैं पिछले डेढ़ महीने से देश का भ्रमण कर रहा हूं, मैं-अमित शाह-योगी सब कार्यकर्ता निमित हैं। इस बार चुनाव देश की जनता ही लड़ रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम एक ग्वाले की तरह हैं, जो भारत माता की सेवा कर रहे हैं। ये चुनाव सिर्फ मोदी नहीं लड़ रहा है, बल्कि ग्वाले लड़ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैने अपने भीतर के कार्यकर्ता को कभी मरने नहीं दिया। इसी वजह से पीएम और सांसद की जिम्मेदारी निभा पा रहा हूं। 
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS