देश
सीबीएसई 10वीं का परिणाम घोषित, 91.1 प्रतिशत छात्र सफल
By Swadesh | Publish Date: 6/5/2019 6:03:58 PM
सीबीएसई 10वीं का परिणाम घोषित, 91.1 प्रतिशत छात्र सफल

-देहरादून के सिद्धांत पैंगोरिया ने किया टॉप

नई दिल्ली। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) ने सोमवार को 10वीं कक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। इस वर्ष 91.10 प्रतिशत छात्र सफल हुए हैं। यह गत वर्ष के मुकाबले 4.40 प्रतिशत अधिक है। इस साल लड़कों के 2.31 फीसदी लड़कियों ने ज्यादा बेहतर प्रदर्शन किया। देहरादून के सिद्धांत पैंगोरिया ने 500 में से 499 अंक लेकर टॉप किया है।
 
हालांकि ऐसा करने वाले वह एकमात्र छात्र नहीं हैं। उनके अलावा 12 अन्य छात्रों ने भी समान अंक प्राप्त किए हैं, जिसमें सात लड़के और छह लड़कियां हैं। इतना ही नहीं शीर्ष स्थान पाने वाले 13 छात्रों में से सात देहरादून के ही हैं। इनमें दिव्यांश वाधवा, योगेश कुमार गुप्ता, अंकुर मिश्रा, वत्सल वार्शने, मान्या, आर्यन झा, तरुण जैन, भावना एन. सिवादास, ईश मदान, दिवजोत कौर जग्गी, अपूर्वा जैन और शिवानी लाथ शामिल हैं। इसके अलावा 498 अंकों के साथ 25 छात्र दूसरे स्थान और 497 अंकों के साथ 59 छात्र तीसरे स्थान पर हैं। 
 
सीबीएसई के अनुसार 10वीं कक्षा की परीक्षा इस साल 15 फरवरी से चार अप्रैल तक 4974 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की थी। इसके लिए 17,74,299 छात्रों नें पंजीकरण कराया था, जबकि 17,61,078 छात्रों ने परीक्षा दी। इसमें से 91.10 प्रतिशत छात्र अर्थात् 16,04,428 छात्र सफल हुए। 2018 की बात करें तो पास प्रतिशत 86.70 था। ऐसे में 4.40 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।
 
वर्ष 2018 में 88.67 प्रतिशत के मुकाबले 92.45 छात्राएं, 85.32 के मुकाबले 90.14 प्रतिशत छात्र और 83.33 के मुकाबले 94.74 प्रतिशत ट्रांसजेंडर सफल हुए हैं। 
 
बोर्ड नेे इस बार परीक्षा के 38 दिनों के भीतर 10वीं का परिणाम घोषित कर दिया है। गत वर्ष की बात करें तो बोर्ड को 10वीं कक्षा का परिणाम घोषित करने में 55 दिन का समय लगा था। बोर्ड ने इस वर्ष 12वीं कक्षा का परिणाम भी गत वर्ष के 42 दिनों के मुकाबले रिकॉर्ड 28 दिनों के घोषित किया। 
 
रीजन के अनुसार बात करें तो त्रिवेंद्रम 99.85 के साथ पहले स्थान पर, इसके बाद क्रमश: चेन्नई 99 प्रतिशत, अजमेर 95.89 प्रतिशत, पंचकूला 93.72 प्रतिशत, प्रयागराज 92.55 प्रतिशत, भुवनेश्वर 92.32 प्रतिशत, पटना 91.86 प्रतिशत, देहरादून 89.04, दिल्ली 80.97 प्रतिशत और गुवाहाटी 74.49 प्रतिशत के साथ 10वें स्थान पर है। 
 
दिल्ली भले ही रीजन की श्रेणी में नौंवे स्थान पर हो लेकिन यहां के छात्रों ने गत वर्ष के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन किया है। दिल्ली रीजन में गत वर्ष 78.62 पास प्रतिशत था, वहीं इस बार यह बढ़कर 80.97 पर पहुंच गया है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS