Ad
देश
कोलकाता में बन रहा नया राजनीतिक समीकरण, भाजपा की कोशिशों को मिलने लगा बल
By Swadesh | Publish Date: 10/5/2019 1:31:36 PM
कोलकाता में बन रहा नया राजनीतिक समीकरण, भाजपा की कोशिशों को मिलने लगा बल

कोलकाता। राजधानी कोलकाता की अहम संसदीय सीट उत्तर कोलकाता में नये राजनीतिक समीकरण बनने के संकेत मिल रहे हैं। यहां तृणमूल कांग्रेस को पराजित करने  की भाजपा की कोशिशों को बल मिलने लगा है। उत्तर कोलकाता में माकपा के निचले दर्जे के हजारों कार्यकर्ताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया है और भाजपा के लिए काम कर रहे हैं। यहां से तृणमूल के  उम्मीदवार सुदीप बनर्जी को हराने के लिए माकपा के कार्यकर्ता घर-घर जा रहे हैं और लोगों से भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील कर रहे हैं। 

पहले क्षेत्र में भाजपा के गिने-चुने  कार्यकर्ता थे लेकिन अब उनकी तादाद हजारों में  है क्योंकि वामपंथ समर्थक चुनाव में किसी भी तरह तृणमूल को हराना चाहते हैं ।  यहां नारा लगाया जा रहा है कि 19 में तृणमूल हाफ और 21 में तृणमूल साफ। इस बारे में पूछने पर गुरुवार को उत्तर कोलकाता लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार राहुल सिन्हा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल के अत्याचार से लोग त्रस्त हो गए हैं।
 
किसी भी पार्टी का नेता और कार्यकर्ता हो, उन्हें इस बात पर पूरा भरोसा है कि केवल भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल को धूल चटा सकती है। इसीलिए लोग भाजपा पर भरोसा कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि ममता बनर्जी पहले से ही दावा करती रही हैं कि पश्चिम बंगाल में भाजपा को माकपा से मदद मिल रही है।
 
गुरुवार को उत्तर कोलकाता में इस परिस्थिति के बारे पूछने पर तृणमूल के निवर्तमान सांसद और संसदीय उम्मीदवार सुदीप बनर्जी ने कहा कि उत्तर कोलकाता के लोग भाजपा और माकपा के षड्यंत्र को भली-भांति जानते हैं। वह चाहे कितनी भी कोशिश कर लें, उन्हें चुनाव में कोई लाभ होने वाला नहीं है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS