ब्रेकिंग न्यूज़
उन्नाव गैंगरेप का विरोध दिल्ली तक पहुंचा, राजघाट से इंडिया गेट तक कैंडल मार्च निकाल रहे लोगइनकम टैक्स रेट में हो सकती है कटौती, निर्मला सीतारमण ने दिए संकेतहैदराबाद एनकाउंटर: मामले की जांच के लिए पहुंची मानवाधिकार आयोग की टीममहिला अपराधों के खिलाफ सक्रिय हुई केंद्र सरकार, कानून मंत्री बोले- दो महीने में पूरी हो रेप की जांचउन्नाव दुष्कर्म पीड़ित के लिए इंसाफ की मांग; लोगों ने कैंडल मार्च निकाला, महिला ने बेटी को जलाने की कोशिश कीराज्यसभा उपचुनाव : उप्र से अरुण सिंह और कर्नाटक से राममूर्ति को भाजपा ने बनाया उम्मीदवारमहाराष्ट्र के 286 विधायकों ने ली पद एवं गोपनीयता की शपथलोकसभा में बना रिकॉर्ड, प्रश्नकाल में पूछे गए सभी सवालों के दिए गए जवाब
खेल
निशानेबाजी विश्व चैंपियनशिप में भारतीय युवाओं ने दिलाए दो स्वर्ण
By Swadesh | Publish Date: 2/9/2018 1:42:38 PM
निशानेबाजी विश्व चैंपियनशिप में भारतीय युवाओं ने दिलाए दो स्वर्ण

नई दिल्ली। भारत ने कोरिया के चांगवान में 52वें आईएसएसएफ विश्व निशानेबाजी चैंपियनशिप में युवा निशानेबाजों की बदौलत दो स्वर्ण और एक कांस्य पदक के साथ धमाकेदार शुरूआत की। भारत को दो स्वर्ण जूनियर वर्ग में मिले हैं। पुरूषों की 50 मीटर पिस्टल व्यक्तिगत स्पर्धा में अर्जुन सिंह चीमा ने स्वर्ण जीता तथा इसी वर्ग की टीम स्पर्धा में उन्होंने गौरव राणा और अनमोल जैन के साथ स्वर्ण जीता। गौरव ने व्यक्तिगत वर्ग में कांस्य जीता। हालांकि सीनियर खिलाड़ियों ने निराश किया और मिश्रित टीम एयर राइफल और एयर पिस्टल टीमें फाइनल के लिए क्वालीफाई ही नहीं कर सकीं।   

 
अर्जुन ने 559 के स्कोर के साथ अपनी स्पर्धा में शीर्ष पर रहते हुये स्वर्ण जीता और कोरिया के वूजोंग किम (554) को दूसरे नंबर पर पीछे छोड़ा जिन्होंने रजत जीता। गौरव ने 551 के स्कोर के साथ कांस्य जीता। इसके बाद अर्जुन, गौरव और अनमोल की भारतीय टीम ने 1659 अंकों के साथ टीम वर्ग का भी स्वर्ण जीता और कोरियाई टीम (1640) को पीछे छोड़ा। चीन की टीम को कांस्य मिला। 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा के मिश्रित टीम वर्ग में अपूर्वी चंदीला, रवि कुमार 835.6 के स्कोर के साथ क्वालिफिकेशन में सातवें नंबर पर रहे।
 
केवल पांच टीमें ही फाइनल में पहुंचीं जबकि भारतीय जोड़ी फाइनल में केवल 0.4 अंक के साथ पहुंचने से चूक गयी। मिश्रित युगल में अन्य भारतीय टीम दीपक कुमार और मेहुली घोष 831.6 के स्कोर के साथ 25वें नंबर पर रहे। एयर पिस्टल वर्ग में हीना सिद्धू और शहजार रिजवी की मिश्रित टीम क्वालिफिकेशन में 768 के स्कोर के साथ 10वें नंबर पर रही। इसी वर्ग में अन्य भारतीय जोड़ी मनु भाकर और अभिषेक वर्मा 767 के स्कोर के साथ 12वें नंबर पर रहकर फाइनल में नहीं पहुंच सके।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS