खेल
आर्मी कैप पहनना सेना के सम्मान के लिए था: भरत अरुण
By Swadesh | Publish Date: 12/3/2019 5:36:33 PM
आर्मी कैप पहनना सेना के सम्मान के लिए था: भरत अरुण

नई दिल्ली। भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने ऑस्ट्रेलिया के साथ रांची में खेले गए तीसरे एकदिनी मुकाबले में भारतीय टीम के आर्मी कैप पहनने पर कहा कि टीम का यह कदम सेना के सम्मान के लिए था।

 
भरत अरुण ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आखिरी एकदिवसीय मैच की पूर्व संध्या पर कहा, 'हमने वही किया जो हमें लगा कि देश करना चाहिए। सेना ने जो इस देश के लिए किया हमारा यह कदम उसके सम्मान के लिए था।' पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने आर्मी कैप पहनने के मामले में भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ आईसीसी से कार्रवाई की मांग की थी। चौधरी ने भारतीय टीम पर खेल का 'राजनीतिकरण' करने का भी आरोप लगाया था।
 
भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी कोच ने कहा, 'सेना ने जो किया हम उसकी सराहना करना चाहते थे। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड(पीसीबी) जो करता है वो हमारे नियंत्रण में नहीं है। बीसीसीआई ने आईसीसी से इजाजत लेने के लिए मेहनत की और फिर हमने वह आर्मी कैप अपने सेना के सम्मान में पहनीं।'
 
महेन्द्र सिंह धोनी और रिषभ पंत की तुलना पर अरुण ने कहा कि धोनी और पंत की तुलना गलत है। धोनी एक महान खिलाड़ी हैं और विकेट के पीछे उनकी भूमिका काफी महत्वपूर्ण होती है। वह समय समय पर कोहली को भी सलाह देते हैं। अंतिम दो मैचों के लिए महेंद्र सिंह धोनी की जगह टीम में शामिल पंत ने विकेट के पीछे लचर प्रदर्शन किया और स्टंपिंग का आसान मौका भी गंवा दिया। 
भरत अरुण ने कहा कि किसी भी अन्य युवा खिलाड़ी की तरह आपको उसे भी समय देना होगा। मेरे कहने का मतलब है कि धोनी भाई ने इतने वर्षों में सारे मैच खेले हैं। आप उनसे तुलना नहीं कर सकते।
 
मोहम्मद शमी की फिटनेस पर पूछे गए सवाल के जवाब में गेंदबाजी कोच ने कहा कि मोहम्मद शमी पूरी तरह से फिट हैं और गेंदबाजी करने के लिए तैयार हैं। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS