Top
undefined

नागरिकता कानून: गुवाहाटी हिंसा में दो और घायलों ने तोड़ा दम, मरने वालों की संख्या हुई चार

नागरिकता कानून: गुवाहाटी हिंसा में दो और घायलों ने तोड़ा दम, मरने वालों की संख्या हुई चार
X

गुवाहाटी. संशोधित नागरिकता कानून को लेकर गुवाहाटी में जारी विरोध प्रदर्शन के बीच गोलीबारी में घायल हुए दो और व्यक्तियों की मौत हो गई है। एक अधिकारी ने बताया कि इसी के साथ पुलिस गोलीबारी में मरने वाली की संख्या बढ़कर चार हो गई है। बता दें कि असम में सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए 16 दिसंबर तक इंटरनेट सेवाएं ठप कर दी गई हैं।

डिब्रुगढ़ के डिप्टी कमिश्नर पल्लव गोपाल झा ने कहा कि असम के डिब्रुगढ़ में रविवार सुबह 7 से शाम 4 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई। बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी असम की सड़कों पर उतरे। प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प हुई और इससे राज्य में अराजकता की स्थिति पैदा हो गई। गुवाहाटी में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गोले का भी प्रयोग किया। इस विधेयक के खिलाफ प्रदर्शनकारियों के हिंसा पर उतर जाने के बाद बुधवार को सेना बुलाई गई थी।

खोंगसाई ने बताया कि कि जहां भी सेना और असम राइफल्स की टुकड़ियां तैनात की गई हैं, वे वहां सामान्य स्थिति बहाल करने में सक्षम रही हैं और वे नागरिक प्रशासन को सहयोग करने में लगी हैं। असम में अपने इतिहास में सबसे हिंसक दौरों में एक से गुजर रहा है। वहां रेलवे स्टेशन, कुछ डाकघर, बैंक, बस टर्मिनल और कई अन्य सार्वजनिक संपत्तियां जला दी गई हैं।

पश्चिम बंगाल के पांच जिलों में इंटरनेट बंद

पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों के मद्देनजर पांच जिलों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गयी हैं। इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सरकार ने खासकर सोशल मीडिया पर अफवाहों और फर्जी खबरों पर रोक लगाने के लिए मालदा, मुर्शिदाबाद, हावड़ा, उत्तरी 24 परगना में और दक्षिणी 24 परगना के कई हिस्सों में इंटनेट सेवाएं अस्थायी रूप से बंद करने का निर्णय लिया है।

Next Story
Share it
Top