Top
undefined

शादी के दो दिन बाद दूल्हे की मौत, समारोह में शामिल हुए 95 लोग कोरोना पॉजिटिव

शादी के दो दिन बाद दूल्हे की मौत, समारोह में शामिल हुए 95 लोग कोरोना पॉजिटिव
X

पटना. बिहार की राजधानी पटना से कोरोना वायरस संक्रमण की एक भयावह खबर सामने आई है. दरअसल, यहां एक शादी समारोह में शामिल हुए 95 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. गौरतलब है कि इस शादी के सिर्फ दो दिन बाद ही दूल्हे की मौत हो गई थी. बताया जा रहा है कि दूल्हा एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर था, जो गुरूग्राम में नौकरी करता था. हैरान करने वाली बात यह है कि दूल्हे का अंतिम संस्कार बिना कोरोना टेस्ट के ही कर दिया गया जबकि पहले से उसमें कोविड-19 के लक्षण थे.

पालीगंज गांव की है घटना

बता दें कि यह घटना पटना जिले के पालीगंज गांव की है. यहां दूल्हे की मौत की खबर सामने आने के बाद जब प्रशासन ने समारोह में शामिल हुए लोगों का टेस्ट किया तो 95 लोग कोरोना पॉजिटिल पाए गए. मामले के सामने आने के बाद से ही प्रशासन में हड़कंप मच गया है. बिहार में यह पहला ऐसा मामला सामने आया है, जहां कोरोना वायरस के विस्तार का इतना बड़ा मामला देखने को मिला है. हालांकि, प्रशासन का कहना है कि दूल्हे का कोरोना टेस्ट इसलिए नहीं हो सका, क्योंकि परिजनों ने प्रशासन को सूचना देने से पहले ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया था.

15 जून को हुई थी शादी

यह शादी समारोह 15 जून को संपन्न हुआ था और शादी के दो दिन बाद ही दूल्हे की मौत हो गई. हालांकि, दूल्हे में पहले से ही कोरोना के सिंक्टम थे. पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर मृतक गुड़गांव से 12 जून को ही गांव पहुंचा था. हालांकि, जब दू्ल्हा गांव पहुंचा था, तब उसमें कोरोना के लक्षण थे, लेकिन उसके परिवार ने शादी का न टालने का फैसला लिया. शादी के सिर्फ दो दिन बाद ही उसकी हालत अचानक बिगड़ गई और पटना के एम्स ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई.

जिला प्रशासन को जब दूल्हे की मौत के बारे में पता चला तो उसने शादी में शामिल हुए लोगों का कोरोना टेस्ट कराया, जिसमें अब तक 95 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं. प्रशासन का कहना है कि कोरोना के लक्षण दिखने के बावजूद शादी कर परिवार वालों ने दिशा निर्देशों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन किया है.

बिहार में सामने आ चुके हैं कोरोना के 9 हजार से ज्यादा मामले

बता दें कि बिहार में अब तक कोरोना के 9 हजार 640 मामले सामने आ चुके हैं. इसमें 2,188 एक्टिव केस हैं. अच्छी खबर यह है कि यहां 7,390 मरीज कोरोना से ठीक भी हुए हैं. वहीं 62 लोगों की इस संक्रमण के कारण मौत हुई है.

Next Story
Share it
Top