Top
undefined

ईटीएफ के दूसरे ऑफर को मिला तीन गुने से ज्यादा का सब्सक्रिप्शन

ईटीएफ के दूसरे ऑफर को मिला तीन गुने से ज्यादा का सब्सक्रिप्शन
X

नई दिल्ली। सरकार ने कहा कि भारत बांड एक्सचेंज ट्र्रेडेड फंड (ईटीएफ) को बाजार ने बढ़चढ़कर स्वीकारा है। यह तीन गुना से ज्यादा ओवरसब्सक्राइब्ड हुआ है। भारत बांड ईटीएफ से करीब 10,000 करोड़ रुपए जुटाए गए हैं।

निवेश और लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव ने एक ट्वीट में कहा कि भारत बांड ईटीएफ की दूसरी सीरीज को बेजोड़ प्रतिक्रिया मिली। यह तीन गुना से ज्यादा ओवरसब्सक्राइब्ड हुआ। करीब 10,000 करोड़ रुपए जुटने का अनुमान है। सभी श्रेणियों में निवेशकों की भागीदारी अच्छी रही।

कुल 14,000 करोड़ रुपए का था ऑफर

इस ईटीएफ का दूसरा ऑफर मूल रूप से 3,000 करोड़ रुपए का था। इसमें 11,000 करोड़ रुपए का ग्रीन शू ऑप्शन था। इस तरह से यह ऑफर कुल 14,000 करोड़ रुपए का था। 11,000 करोड़ रुपए के ग्रीन शू ऑप्शन का मतलब यह है कि मूल ऑफर के अतिरिक्त इतने के अतिरिक्त फंड को भी स्वीकार किया जा सकता है।

यह ईटीएफ सिर्फ सरकारी कंपनियों के एएए रेटेड बांड में निवेश करता है

अधिकारी ने कहा कि अंतिम आंकड़े की जांच की जा रही है और इसकी घोषणा सोमवार को की जाएगी। यह ईटीएफ 3 साल और 10 साल में मैच्योर होता है। दिसंबर 2019 में इस ईटीएफ का पहला ऑफर आया था। पहले ऑफर में करीब 12,400 करोड़ रुपए का फंड जुटा था। यह ईटीएफ सिर्फ सरकारी कंपनियों के एएए रेटेड बांड में निवेश करता है।

ईटीएफ से जुटी राशि का प्रबंधन एडलवाइस असेट मैनेजमेंट करती है

भारत बांड ईटीएफ का दूसरा ऑफर 14 जुलाई को खुला था। इसका सब्सक्रिप्शन 17 जुलाई को बंद हुआ। ईटीएफ से जुटी रकम से सरकार को कारोबारी साल का विनिवेश लक्ष्य हासिल करने में भी मदद मिलेगी। ईटीएफ से जुटी राशि का प्रबंधन एडलवाइस असेट मैनेजमेंट करती है।

Next Story
Share it
Top