Top
undefined

कैमरा-लैपटॉप खरीदने का है प्लान तो जल्दी कीजिए, हो सकते हैं महंगे

कैमरा-लैपटॉप खरीदने का है प्लान तो जल्दी कीजिए, हो सकते हैं महंगे
X

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प के बाद से ही भारत सरकार द्वारा चुन चुनकर चीन की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। इस बीच भारत सरकार एक नया कदम उठाने जा रही है। सरकार चीन से आयात होने वाले 20 प्रोडक्ट्स पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने की तैयारी में है। इसमें लैपटॉप, कैमरा, टेक्सटाइल प्रोडक्ट और एल्युमिनियम प्रोडक्ट शामिल हैं। वहीं कुछ स्टील आइटम पर इंपोर्ट लाइसेंसिंग लगाई जा रही है, जो चीन से आयात पर तमाम प्रतिबंध लगाने के कदम का हिस्सा है।

फिलहाल कस्टम ड्यूटी बढ़ाने का प्रस्ताव वित्त मंत्रालय के सामने है, जिसने वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की तरफ से आया ये प्रस्ताव पहले ही ठुकरा दिया था। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेवेन्यू विभाग कुछ टैरिफ बढ़ाने की घोषणा करने की तैयारी में है।

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि यह सिर्फ चीन पर लगाई जाने वाली ड्यूटी नहीं है, बल्कि पूरी ही कस्टम ड्यूटी बढ़ाने की कोशिश है। हालांकि, इसके पीछे आइडिया उन प्रोडक्ट पर फोकस करना है जो चीन से भारी मात्रा में भारत द्वारा आयात किया जाता है। हाल फिलहाल के हफ्तों में सरकार ने पाया है कि चीन से रिश्ते बिगड़ने के बाद भारत की तरफ से फ्री ट्रेड एग्रिमेंट वाले देशों से बहुत सारा आयात हो रहा है, खासकर वियतनाम और थाईलैंड जैसे एशियन देश।

कहा जा रहा है कि रेवेन्यू विभाग की ओर से कोई कदम ना उठाने के चलते कॉमर्स विभाग ने टायर और टीवी जैसी चीजों पर आयात लाइसेंसिंग लागू करने का फैसला किया है। वहीं लाइसेंसिंग एजेंसी डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड की ओर से कुछ स्टील के प्रोडक्ट के आयात पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं। आयात प्रतिबंधों के अलावा मोदी सरकार ने 59 चीनी ऐप भी बैन कर दिए हैं।

Next Story
Share it
Top