Top
undefined

अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट टिकटाॅक को खरीदना चाहती है, टेकओवर के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर लगाएगी बोली

अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट टिकटाॅक को खरीदना चाहती है, टेकओवर के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर लगाएगी बोली
X

नई दिल्ली। अमेरिकी रिटेल दिग्गज वॉलमार्ट, टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर चीनी वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटाॅक की बोली लगाएगी। वॉलमार्ट ने टिकटाॅक कंपनी में हिस्सेदारी के लिए रुचि दिखाई है और कहा है कि वह माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर साझेदारी करेगी। इंटरनेशनल मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार माइक्रोसॉफ्ट की टिकटाॅक के साथ डील अंतिम फेज में है। जल्द ही घोषणा की जा सकती है।

वॉलमार्ट ने कहा कि वह टिकटॉक की बोली के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर काम करेगा। रिटेल दिग्गज कंपनी ने पुष्टि की है कि वह चीन की मशहूर शॉर्ट-फॉर्म वीडियो ऐप खरीदने में इंटरेस्टेड है। वॉलमार्ट ने कहा है कि हमें विश्वास है कि वॉलमार्ट और माइक्रोसॉफ्ट की साझेदारी अमेरिकी सरकार के रेगुलेटर्स की टेंशन को खत्म करते हुए अमेरिका में टिकटाॅक यूजर्स की अपेक्षाओं को पूरा करेगी। हालांकि, टिकटाॅक ने अभी इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। इस खबर के बाद वॉलमार्ट के शेयर में 5% का उछाल देखा गया।

20 से 30 अरब डॉलर में हो सकती है डील

सूत्रों के मुताबिक, टिकटॉक की बीजिंग स्थित मूल कंपनी बायडांस अपने अमेरिकी, कनाडाई, ऑस्ट्रेलियाई और न्यूजीलैंड के लिए कारोबारी डील 20 बिलियन से 30 बिलियन डाॅलर में होने की संभावना है। सूत्रों ने कहा कि इसने अभी तक खरीदार नहीं चुना है, लेकिन आने वाले दिनों में इस सौदे की घोषणा की जा सकती है। वॉलमार्ट की पुष्टि के साथ ही वह ओरेकल सहित टेक कंपनी पर बोली लगाने वाली कंपनियों में शामिल हुई।

ट्रंप ने चीनी ऐप को दी थी 90 दिन की मोहलत

अमेरिका में टिकटाॅक के भविष्य को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक नया एग्जीक्युटिव ऑर्डर साइन किया था। इस ऑर्डर में उन्होंने कहा था कि अगर टिकटॉक को अमेरिका में बिजनेस जारी रखना है तो उन्हें 90 दिनों के अंदर इसे बेचना होगा और सभी मौजूदा डेटा को डिलीट करना होगा। इससे पहले गुरुवार को टिकटाॅक के सीईओ ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा प्रतिबंध के आगे इस्तीफा दे दिया।

Next Story
Share it
Top