Top
undefined

सितंबर में पेट्रोल-डीजल की मांग बढ़ी, आर्थिक गतिविधियों में ग्रोथ से मिला सहारा

सितंबर में पेट्रोल-डीजल की मांग बढ़ी, आर्थिक गतिविधियों में ग्रोथ से मिला सहारा
X

नई दिल्ली। अनलॉक में मिल रही रियायतों के कारण सितंबर में फ्यूल डिमांड बढ़ी है। इस महीने रिफाइंड फ्यूल की खपत 7.2% बढ़कर 15.47 मिलियन टन हो गई है। फ्यूल डिमांड में यह बढ़त जून के बाद पहली देखी जा रही है। जून में खपत 16.09 मिलियन टन रही थी। जबकि सालाना आधार पर खपत में अभी भी कमी है।

अनलॉक में इंडस्ट्रियल ग्रोथ

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल जून के बाद पहली बार सितंबर में फ्यूल डिमांड 7.2% बढ़ी है। जबकि एक साल पहले की समान अवधि में भी फ्यूल डिमांड में 4.4% गिरावट दर्ज की गई थी। यह गिरावट लगातार सातवें साल रही थी। अनलॉक प्रक्रिया के तहत सरकार कई रियायतें दे रही है। इससे इंडस्ट्रियल एक्टिविटी में अच्छी ग्रोथ रही है।

सितंबर में इंडस्ट्रियल ग्रोथ पिछले आठ सालों से भी अधिक समय में सबसे तेज रही है। जबकि इस दौरान नौकरीपेशा लोगों की छंटनी भी होती रही। देशव्यापी लॉकडाउन के कारण आर्थिक गतिविधियां और यातायात परिचालन एकदम ठप पड़ा गया था, जिससे फ्यूल डिमांड में भारी गिरावट देखने को मिली थी। यह गिरावट अगस्त में रही थी। हालांकि जून के दौरान इसमें हल्का सुधार देखने को मिला था।

डीजल और पेट्रोल की खपत

डीजल की खपत आर्थिक ग्रोथ का पैमाना माना जाता है। इसके अलावा भारत में रिफाइंड फ्यूल बिक्री में डीजल की हिस्सेदारी 40% की है। सितंबर में डीजल की खपत अगस्त की तुलना में 13.2% बढ़कर 5.49 मिलियन टन हो गई है। अगस्त में डीजल की खपत 4.85 मिलियन टन रही थी। हालांकि, सालाना आधार पर डीजल की डिमांड 6% नीचे गिरी है। पेट्रोल की बिक्री पिछले साल की तुलना में 3.3% बढ़कर 2.45 मिलियन टन हो गई है। सितंबर में पेट्रोल की बिक्री अगस्त के मुकाबले 2.9% अधिक हुई है। अगस्त में पेट्रोल की बिक्री 2.38 मिलियन टन रही थी।

सितंबर में एलपीजी गैस बिक्री भी बढ़ी

कुकिंग गैस यानी एलपीजी की बिक्री भी सालाना आधार पर सितंबर में 4.8% बढ़कर 2.27 मिलियन टन हो गई है। वहीं, नैफ्था की बिक्री भी पिछले साल की तुलना में 2.9% बढ़कर 1.14 मिलियन टन रही, जो अगस्त में हुई बिक्री की तुलना में 5.7% अधिक है। सड़कों के निर्माण के लिए उपयोग की जाने वाली बिटुमेन की बिक्री पिछले साल से 38.3% अधिक रही। सालाना आधार पर फ्यूल ऑयल की बिक्री में 7.4% की गिरावट दर्ज की गई है, जो अगस्त की तुलना में लगभग 4.1% कम है।

Next Story
Share it
Top