Top
undefined

वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट ग्रुप ने निंजाकार्ट में किया निवेश

वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट ग्रुप ने निंजाकार्ट में किया निवेश
X

नई दिल्ली। फ्लिपकार्ट ग्रुप और वॉलमार्ट ने सोमवार को निंजाकार्ट में नए निवेश राउंड की घोषणा की। निंजाकार्ट बेंगलुरु का सप्लाई चेन प्लेटफॉर्म है जो रिटेलर्स और कारोबारियों को सीधे किसानों से ताजा उत्पादों की डिलिवरी करता है। ग्राहकों तक ताजा उत्पादों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट ग्रुप ने दिसंबर 2019 में भी निंजाकार्ट में निवेश किया था।

सुपरमार्ट और फ्लिपकार्ट क्विक पर फोकस कर रही है फ्लिपकार्ट

दूसरी दौर की यह फंडिंग ऐसे समय में आई है जब देश की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट अपने सुपरमार्ट (ग्रॉसरी) और फ्लिपकार्ट क्विक (हाइपरलोकल कारोबार) पर फोकस कर रही है। फ्लिपकार्ट ग्रुप के सीईओ कल्याण कृष्णमूर्ति का कहना है कि पिछले कुछ महीनों में देश का ई-ग्रॉसरी मार्केट तेजी से ग्रोथ कर रहा है। इसका कारण यह है कि लोगों ने ग्रॉसरी और अन्य ताजा उत्पादों के ऑनलाइन ऑर्डर बढ़ा दिए हैं। फ्लिपकार्ट ग्रुप अपने ग्राहकों की जरूरतों के मुताबिक नए और इनोवेटिव रास्ते अपना रहा है। निंजाकार्ट फ्लिपकार्ट ग्रुप और वॉलमार्ट ग्रुप को भी ताजा उत्पादों की डिलिवरी करता है।

उभरते ग्राहकों की सेवा में इस्तेमाल की जाएगी पूंजी

आने वाले महीनों में निंजाकार्ट इस पूंजी का इस्तेमाल नए मार्केट, नए ऑफर और उभरते ग्राहक सेगमेंट के लिए सप्लाई चेन तैयार करने में खर्च करेगा। साथ ही मौजूदा सप्लाई चेन को इनोवेटिव तरीके से ज्यादा किफायती, भरोसेमंद और मुनाफेदार बनाने के लिए पूंजी खर्च की जाएगी। वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट ग्रुप का कहना है कि यह ट्रांजेक्शन अक्टूबर अंत तक पूरा हो जाएगा। हालांकि, दोनों कंपनियों ने निवेश की राशि की जानकारी नहीं दी है।

2015 में हुई थी निंजाकार्ट की स्थापना

निंजाकार्ट के सीईओ और को-फाउंडर थिरुकुमारन नागराजन का कहना है कि वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट ग्रुप के नए निवेश से हम सेफ फूड के विजन के और करीब पहुंच जाएंगे। इससे हमारी थाली तक पहुंचने वाले फूड का तरीका बदल जाएगा। निंजाकार्ट की स्थापना 2015 में हुई थी। तब से अब तक यह स्टार्टअप टाइगर ग्लोबल, एसेल, टिंगलीन, स्टिडव्यू, सिनजेंटा, नंदन नीलकेणि और क्वालकॉम जैसे दिग्गज निवेश से फंड जुटा चुका है।

Next Story
Share it
Top