Top
undefined

जून में 134 करोड़ UPI ट्रांजेक्शन के जरिए लोगों ने 2.62 लाख करोड़ रुपए का किया लेनदेन

जून में 134 करोड़ UPI ट्रांजेक्शन के जरिए लोगों ने 2.62 लाख करोड़ रुपए का किया लेनदेन
X

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण के कारण लोग पैसों के नगद लेनदेन की जगह डिजिटल पेमेंट का उपयोग कर रहे हैं। डिजिटल पेमेंट के मामले में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) लोगों की पहली पसंद बना हुआ है। नेशनल पेमेंट्स कॉर्प ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के आंकड़ों के मुताबिक जून महीने में लोगों ने UPI से रिकॉर्ड 1.34 बिलियन (134 करोड़) ट्रांजेक्शन के जरिए लगभग 2.62 लाख करोड़ रुपए का लेनदेन किया है। ये अब तक किसी भी महीने में UPI से किए गए लेनदेन में सबसे ज्यादा है।

इससे पहले इसी साल फरवरी में बना था रिकॉर्ड

एनपीसीआई के अनुसार इससे पहले फरवरी महीने में 1.32 बिलियन (132 करोड़) ट्रांजेक्शन के जरिए रिकॉर्ड 2.22 लाख करोड़ रुपए का लेनदेन हुआ। वहीं मई महीने में UPI के जरिए कुल 1.23 बिलियन (123 करोड़) ट्रांजेक्शन के जरिए कुल 2.13 लाख करोड़ रुपए का लेनदेन किया गया।

2019 में UPI से हुआ 10.8 अरब का लेनदेन

साल 2019 में UPI के इस्तेमाल में सबसे ज्यादा तेजी आई है। गुरुवार को वर्ल्डलाइन एनुअल इंडिया डिजिटल पेमेंट द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार पिछले तीन साल में यूपीआई ट्रांजेक्शन में औसतन 188 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इसके साथ ही इससे ट्रांजेक्शन की संख्या बढ़कर 10.8 अरब पहुंच गई है। यूपीआई के जरिए 2019 में 18,36,000 करोड़ रुपए का ट्रांजेक्शन किया गया था, जो साल 2018 के मुकाबले 214 फीसदी ज्यादा था। UPI को अगस्त 2016 में लॉन्च किया गया था।

UPI कैसे काम करता है?

UPI की सेवा लेने के लिए आपको एक वर्चुअल पेमेंट एड्रेस तैयार करना होता है। इसके बाद इसे आपको अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना होता है। वर्चुअल पेमेंट एड्रेस आपका वित्तीय पता बन जाता है। इसके बाद आपका बैंक अकाउंट नंबर, बैंक का नाम या IFSC कोड आदि याद रखने की जरूरत नहीं होती। पेमेंट करने वाला बस आपके मोबाइल नंबर के हिसाब से पेमेंट रिक्वेस्ट प्रोसेस करता है और वह पेमेंट आपके बैंक अकाउंट में आ जाता है। अगर, आपके पास उसका UPI आईडी (ई-मेल आईडी, मोबाइन नंबर या आधार नंबर) है तो आप अपने स्‍मार्टफोन के जरिए आसानी से पैसा भेज सकते हैं। न सिर्फ पैसा बल्कि यूटिलिटी बिल पेमेंट, ऑनलाइन शॉपिंग, खरीददारी आदि के लिए नेट बैंकिंग, क्रेडिट या डेबिट कार्ड भी जरूरत नहीं होगी। ये सभी काम आप यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस सिस्टम से कर सकते हैं।

UPI से जुड़ी 5 अहम बातें

< UPI सिस्‍टम रियल टाइम फंड ट्रांसफर करता है

< किसी को पैसा भेजन के लिए आपको सिर्फ उसके UPI आईडी (एक वर्चुअल आइडेंटी जैसे ई-मेल एड्रेस, मोबाइल नंबर,आधार नंबर) की जरूरत होगी।

< UPI आईडी होने से आपको फंड ट्रांसफर करने के लिए लाभार्थी का नाम, अकाउंट नंबर, बैंक आदि की जानकारी लेने की जरूरत नहीं होगी।

< UPI को IMPS के मॉडल पर डेवलप किया है। इस लिए इस ऐप से आप 24*7 बैंकिंग कर सकते हैं।

< UPI से ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए ओटीपी, सीवीवी कोड, कार्ड नंबर, एक्‍सपायरी डेट आदि की जरूरत नहीं होगी।

Next Story
Share it
Top