Top
undefined

एयर इंडिया के कर्मचारियों को झटका, 30% कटौती के साथ मिल सकती है जून की सैलरी

एयर इंडिया के कर्मचारियों को झटका, 30% कटौती के साथ मिल सकती है जून की सैलरी
X

नई दिल्ली। कर्ज के बोझ में डूबी सरकारी विमान कंपनी एयर इंडिया के कर्मचारियों के लिए खुशी के साथ-साथ गम की भी खबर पर है। कर्मचारियों को इस सप्ताह में जून की सैलरी मिल सकती है लेकिन इसके साथ ही ग्रेड के हिसाब से 30 फीसदी तक सैलरी कटकर आएगी। इसके अलावा एयर इंडिया ने पिछले दिनों कोरोना की वजह से ड्यूटी के दौरान जान गंवा चुके कर्मचारियों के परिजनों के लिए मुआवजे की भी घोषणा कर दी है। कोरोना महामारी की वजह से एयर इंडिया को बड़ा नुकसान हो रहा है।

5 साल तक के लिए ​छुट्टी पर भेजे जा सकते हैं कर्मचारी

दरअसल, संकटग्रस्त एयर इंडिया ने कर्मचारियों की संख्या कम करने का प्लान बनाया है। इस प्लान के तहत कर्मचारी बिना वेतन के लंबी छुट्टी पर जा सकते हैं। इसे लीव विदाउट पे (एलडब्ल्यूपी) कहा गया है। यह छुट्टी 6 महीने से लेकर पांच साल तक हो सकती है। कर्मचारियों को उनकी दक्षता, क्षमता, प्रदर्शन की गुणवत्ता, कर्मचारियों का स्वास्थ्य आदि के आधार पर चयन किया जाएगा कि किन्हें छुट्टी पर भेजा जाए।

पायलट यूनियन ने किया विरोध

एयर इंडिया की इस योजना के बीच कंपनी के पायलट यूनियन आईसीपीए ने सोमवार को कहा है कि विमान कंपनी द्वारा पायलटों की सैलरी में किसी प्रकार का इकतरफा बदलाव गैरकानूनी होगा। आईसीपीए और इंडियन पायलट्स गिल्ड (आईपीजी) ने पिछले सप्ताह प्रबंधन को भेजे एक संयुक्त पत्र में कहा कि कोरोना महामारी के बीच एयर इंडिया ने पायलट के वेतन में 60 फीसदी कटौती का प्रस्ताव रखा है। जबकि टॉप मैनेजमेंट ने अपने कुल वेतन में 3.5 फीसदी कटौती का प्रस्ताव किया है। बता दें कि एयर इंडिया पर लगभग 70,000 करोड़ रुपए का कर्ज है और सरकार ने इसे इस साल जनवरी में इसके निजीकरण की प्रक्रिया शुरू की है।

क्या है हरदीप सिंह पुरी का कहना

इस बीच एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने एयर इंडिया के इस योजना को सही करार देते हुए कहा कि सरकार के पास कोई और विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार के पास कोई विकल्प होता तो लागत में इतनी कटौती की कोई जरूरत नहीं होती। सरकार इस स्थिति में नहीं है कि वो विमान कंपनियों की कोई आर्थिक मदद कर सके। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना काल से पहले जितनी घरेलू उड़ानों का संचालन होता था, उस तुलना में इस साल दिवाली के अंत तक 55 से 60 फीसदी उड़ाने शुरू हो जाएंगी।

Next Story
Share it
Top