Top
undefined

रिलायंस जियो के लांच होने के बाद 4 साल में देश का डाटा कंजंप्शन 30 गुने से ज्यादा बढ़ा: अंबानी

रिलायंस जियो के लांच होने के बाद 4 साल में देश का डाटा कंजंप्शन 30 गुने से ज्यादा बढ़ा: अंबानी
X

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज के सीएमडी मुकेश अंबानी ने गुरुवार को कहा कि रिलायंस जियो के लांच होने के बाद गत 4 साल में देश का डाटा कंजंप्शन जियो से पहले की खपत के मुकाबले 30 गुने से ज्यादा बढ़ गया है। आज भारत हर महीने 6 एक्साबाइट से ज्यादा की डाटा खपत करता है। जियो के लांच होने के पहले भारत की मासिक डाटा खपत महज 0.2 अरब गीगाबाइट थी।

टीएम फोरम के डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन वर्ल्ड सीरीज 2020 वर्चुअल कांफ्रेंस में उन्होंने कहा कि आज दुनिया में सबसे ज्यादा मोबाइल डाटा की खपत भारत में होती है। जियो के लांच होने के बाद गत 4 साल में भारत मोबाइल डाटा कंजंप्शन इंडेक्स में 155वें से उछलकर पहले नंबर पर आ गया है। जियो ने इस धारणा को तोड़ दिया कि भारत अत्याधुनिक तकनीक को लागू करने के लिए तैयार नहीं है।

अंबानी ने कहा कि जियो देश के 2,000 शहरों के 5 करोड़ मकानों और परिसरों को हाई-स्पीड, लो-लेटेंसी ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क से जोड़ेगी। इसके साथ ही जियो देशभर में 5जी सेवा शुरू करने की तैयारी कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो ने लांचिंग के बाद पहले 170 दिनों में हर सेकेंड में 7 ग्राहक जोड़े और इस दौरान कुल 10 करोड़ ग्राहक बनाए थे।

अंबानी ने कहा कि पहली दो औद्योगिक क्रांति में भारत शामिल नहीं हो पाया। तीसरी औद्योगिक क्रांति (इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी) में भारत शामिल तो हुआ लेकिन पीछे ही रहा। अब चौथी औद्योगिक क्रांति आ रही है और भारत के पास इस क्रांति में खुद ग्लोबल लीडर बनने का अवसर है।

चौथी क्रांति में शामिल होने के लिए जियो ने तैयार की जमीन

अंबानी ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति में शामिल होने के लिए तीन बुनियादी जरूरतें हैं- अल्ट्र्रा-हाई-स्पीड कनेक्टिविटी, सस्ते स्मार्ट डिवासेज और ट्रांसफॉर्मेशनल डिजिटल एप्लिकेशंस एंड सॉल्यूशंस। उन्होंने कहा कि 2जी नेटवर्क बनाने में 25 साल लगे थे, जबकि जियो ने महज 3 साल में 4जी नेटवर्क तैयार कर लिया। जियो ने दुनिया में सबसे सस्ता डाटा टैरिफ लांच किया और वॉयस कॉल को पूरी तरह से मुफ्त कर दिया।

आम लोगों को जियो ने डिजिटल मूवमेंट से जोड़ा

उन्होंने कहा कि जियो से पहले 50 करोड़ से ज्यादा लोग डिजिटल मूवमेंट से कटे हुए थे, क्योंकि वे स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे और 2जी फोन से काम चला रहे थे। जियो ने बेहद सस्ता जियोफोन पेश किया। इससे सिर्फ एक साल में आम लोग भी असीमित संभावनाओं वाली दुनिया से जुड़ गए। इसके अलावा जियो ने अनेक एप्लिकेशंस भी पेश किए।

Next Story
Share it
Top