Top
undefined

तेल की मांग और रिफाइनिंग मार्जिन घटने से इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन का स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट 47% गिरा

तेल की मांग और रिफाइनिंग मार्जिन घटने से इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन का स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट 47% गिरा
X

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी ऑयल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोनावायरस महामारी में तेल की मांग और रिफाइनिंग मार्जिन घटने से जून तिमाही में उसका नेट प्रॉफिट करीब 47 फीसदी गिर गया। अप्रैल-जून 2020 तिमाही में कंपनी कंपनी का स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट 1,910.84 करोड़ रुपए या 2.08 रुपए प्रति शेयर रहा। यह पिछले साल की समान तिमाही में हुए 3,596.11 करोड़ रुपए या 3.92 रुपए प्रति शेयर नेट प्रॉफिट के मुकाबले 46.8 फीसदी कम है।

जून तिमाही के अधिकांश हिस्से में लॉकडाउन लगे होने के कारण देश में वाहन लगभग नहीं चल रहे थे। इसके कारण पिछली तिमाही में कंपनी ऑयल सेल 29 फीसदी गिरकर 1.525 करोड़ टन रह गया। इस दौरान कंपनी की ऑयल रिफाइनिंग 25 फीसदी घटकर 1.29 करोड़ टन रही।

प्रत्येक बैरल क्रूड पर 1.98 डॉलर का रिफाइनिंग घाटा

आईओसी ने कहा कि अप्रैल-जून तिमाही में उसे हर एक बैरल क्रूड से ऑयल बनाने में 1.98 डॉलर का घाटा सहना पड़ा। जबकि एक साल पहले की समान तिमाही में हर एक बैरल क्रूड की रिफाइनिंग पर 4.69 डॉलर का मार्जिन मिल रहा था। बीएसई पर कंपनी के शेयर बिना किसी बदलाव के 88.55 रुपए पर बंद हुए।

ऑपरेशनल रेवेन्यू 40.76% घटा

कंपनी ने शेयर बाजारों को दी गई सूचना में कहा कि जून तिमाही में उसक ऑपरेशनल रेवेन्यू 40.76 फीसदी घटकर 88,936.54 करोड़ रुपए रह गया। एक साल पहले की समान तिमाही में यह 150,136.70 करोड़ रुपए था। देशव्यापी लॉकडाउन के बीच कंपनी की बिक्री में भारी गिरावट आई थी। लेकिन जून में बिक्री फिर से लगभग सामान्य स्तर पर वापस आ गई।

Next Story
Share it
Top