Top
undefined

बाजार की तेजी थमी; सेंसेक्स दिन के टॉप से 631 अंक गिरकर 43600 पर पहुंचा

बाजार की तेजी थमी; सेंसेक्स दिन के टॉप से 631 अंक गिरकर 43600 पर पहुंचा
X

मुंबई। अमेरिकी बाजारों में भारी गिरावट और दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते भारतीय बाजारों में भारी बिकवाली देखने को मिली। गुरुवार को BSE सेंसेक्स दिन के सर्वोच्च स्तर से 631 अंक नीचे 43,599.96 पर और निफ्टी 192 अंक नीचे 12,771.70 पर बंद हुआ। निफ्टी बैंक इंडेक्स भी 846 अंकों की गिरावट रही। आज कारोबारी सत्र के दौरान सेंसेक्स ने 44,230 और निफ्टी ने 12,963 को टच किया था, इंट्राडे में दोनों इंडेक्स का यह सर्वोच्च स्तर है।

निफ्टी में एसबीआई का शेयर 5% नीचे बंद हुआ है। ICICI बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर भी 4-4 फीसदी से ज्यादा की गिरावट के साथ बंद हुए हैं। अल्ट्राटेक सीमेंट और जेएसडब्ल्यू स्टील के शेयरों में भी 3-3 फीसदी की गिरावट रही। वहीं, पावर ग्रिड और आईटीसी के शेयर 2-2 फीसदी से ज्यादा की बढ़त के साथ बंद हुए हैं। ऑटो इंडेक्स में बॉश का शेयर 3% ऊपर बंद हुआ है। सुबह BSE सेंसेक्स 277.81 अंक नीचे 43,902.24 पर और निफ्टी 99.25 अंक नीचे 12,839.50 पर खुला था।

बीएसई पर करीब 48% कंपनियों के शेयरों में गिरावट रही

बीएसई का मार्केट कैप 170 लाख करोड़ रुपए रहा।

2,938 कंपनियों के शेयरों में ट्रेडिंग हुई। इसमें 1,322 कंपनियों के शेयरों में बढ़त और 1,435 कंपनियों के शेयरों में गिरावट रही।

171 कंपनियों के शेयर 1 साल के उच्च स्तर और 43 कंपनियों के शेयर एक साल के निम्न स्तर पर रहे।

301 कंपनियों के शेयर में अपर सर्किट और 190 कंपनियों के शेयर में लोअर सर्किट लगा।

कोरोना वायरस की वापसी

दुनियाभर में अब तक 5.65 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 3.93 करोड़ लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 13.53 लाख लोगों की जान जा चुकी है। अमेरिका में हालात बद से बदतर होने लगे हैं। यहां के अस्पतालों में बेड कम पड़ने लगे हैं। मरने वालों का आंकड़ा भी 2.56 लाख हो चुका है। दुनियाभर में अब तक 5.62 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 3.92 करोड़ लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 13.50 लाख लोगों की जान जा चुकी है।

वहीं, राजधानी दिल्ली में भी कोरोना के आंकड़े बेहद चिंताजनक हो रहे हैं। बीते 24 घंटे में यहां 7486 नए केस आए। 6901 मरीज ठीक हो गए और 131 मौतें हुईं। नवंबर के 18 दिनों में यहां 1.16 लाख केस आए हैं, यानी रोजाना औसतन छह हजार से ज्यादा।

एशियाई बाजारों का हाल

आज एशियाई बाजारों में जापान का निक्केई इंडेक्स 93 अंक नीचे 25,634 पर बंद हुआ है। हॉन्गकॉन्ग का हेंगसेंग इंडेक्स भी 118 अंकों की गिरावट के साथ 26,425 पर बंद हुआ। दूसरी ओर, चीन का शंघाई कंपोजिट इंडेक्स भी 0.47% की बढ़त के साथ 3,363 पर बंद हुआ है।

बुधवार को रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ था बाजार

कल सेंसेक्स 227.34 अंक ऊपर 44,180.05 पर और निफ्टी 64.05 अंक ऊपर 12,938.25 के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ था। हालांकि, कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 44,215.49 और निफ्टी ने 12,948.85 के स्तर को टच किया था। बुधवार को बाजार की बढ़त को ऑटो और बैंकिंग शेयरों ने लीड किया। वहीं, आईटी शेयरों में गिरावट देखने को मिली थी। निफ्टी में महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर 10% ऊपर बंद हुआ था। सरकारी कंपनी बीपीसीएल का शेयर 3% नीचे बंद हुआ था।

दुनियाभर के बाजारों में रही गिरावट

बुधवार को दुनियाभर के बाजारों में गिरावट देखने को मिली। अमेरिकी बाजार में डाउ जोंस इंडेक्स 1.16% गिरावट के साथ 344.93 अंक नीचे 29,438.40 पर बंद हुआ था। नैस्डैक इंडेक्स भी 0.69% की गिरावट के साथ 82.78 अंक नीचे 11,894.70 पर बंद हुआ था। वहीं, एसएंडपी 500 इंडेक्स 41.74 पॉइंट नीचे 3,567.79 पर बंद हुआ था।

दूसरी ओर, कल यूरोपियन मार्केट में तेजी देखने को मिली। ब्रिटेन का FTSE इंडेक्स 0.31% ऊपर 6,385.24 पर बंद हुआ था। बुधवार को जर्मनी का DAX इंडेक्स भी 0.52% ऊपर 13,201.90 पर बंद हुआ था। वहीं, फ्रांस का CAC इंडेक्स 0.52% की बढ़त के साथ 5,511.45 पर बंद हुआ था।

Next Story
Share it
Top