Top
undefined

लॉकडाउन में ATM फ्रॉड बढ़े, इसलिए 18 सितंबर से बदल रहा कैश निकालने का नियम

लॉकडाउन में ATM फ्रॉड बढ़े, इसलिए 18 सितंबर से बदल रहा कैश निकालने का नियम
X

नई दिल्ली। लॉकडाउन के दौरान एटीएम फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसे ध्यान में रखते हुए एसबीआई ने ओटीपी बेस्ड एटीएम कैश विदड्रॉल सुविधा को 24×7 लागू करने का फैसला किया है। यह सुविधा देशभर के सभी एसबीआई एटीएम पर 18 सितंबर से लागू हो जाएगी।

10,000 या इससे ज्यादा रुपए निकालने पर ओटीपी लगेगा

इस सुविधा के शुरू होने के बाद एसबीआई के एटीएम से 10 हजार रुपए या इससे अधिक राशि निकालने पर दिन में भी ओटीपी की जरूरत होगी। इससे पहले तक रात में आठ बजे से सुबह आठ बजे 10 हजार रुपए या इससे अधिक राशि निकालने पर ही ओटीपी की जरूरत होती थी। बैंक ने 1 जनवरी से यह नियम लागू किया था।

अब 18 सितंबर यानी इस शुक्रवार से अगर आप 10 हजार या इससे ज्यादा पैसे निकालने एटीएम जाते हैं तो अब आपके पास कार्ड एंटर करने और अमाउंट डालने के बाद बैंक की तरफ से रजिस्टर्ड मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को डेबिट कार्ड की पिन के साथ डालना होगा, तभी आप एसबीआई के एटीएम से पैसे निकाल पाएंगे।

ओटीपी के कारण कैसे बढ़ेगी सुरक्षा

एसबीआई के एमडी (रिटेल और डिजिटल बैंकिंग) सीएस सेट्टी ने कहा कि तकनीकी सुधार और सेफ्टी के मामले में एसबीआई हमेशा सबसे आगे रहा है। हमें उम्मीद है कि 24x7 ओटीपी-आधारित कैश विड्रॉल की सुविधा से सुरक्षा स्तर को और ज्यादा मजबूती मिलेगा। दिनभर इस सुविधा को लागू करने से एसबीआई डेबिट कार्डधारक धोखेबाजों, अनधिकृत निकासी, कार्ड स्कीमिंग, कार्ड क्लोनिंग और इसी तरह के जोखिम से बच सकेंगे।

देशभर में बैंक के 22,000 से अधिक ब्रांच

देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की देशभर में 22 हजार से ज्यादा ब्रांच हैं। एसबीआई की मौजूदगी 30 से ज्यादा देशों में है। SBI के 6.6 करोड़ से ज्यादा ग्राहक मोबाइल बैंकिंग और ATM की सुविधा का इस्तेमाल करते हैं।

Next Story
Share it
Top