Top
undefined

100 सबसे ताकतवर महिलाओं की लिस्ट में देश की सबसे अमीर महिला रोशनी भी शामिल

100 सबसे ताकतवर महिलाओं की लिस्ट में देश की सबसे अमीर महिला रोशनी भी शामिल
X

नई दिल्ली। टेक कंपनी एचसीएल टेक्नोलॉजी को अब शिव नाडर की 38 साल की बेटी रोशनी नाडर मल्होत्रा संभालेंगी। शुक्रवार को एचसीएल के चेयरमैन शिव नाडर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। रोशनी अब कंपनी की चेयरपर्सन होंगी। एचसीएल ने शुक्रवार को जून तिमाही ने नतीजे जारी किए। इसी दौरान शिव नाडर ने चेयरमैन पद छोड़ने का ऐलान किया।

शुक्रवार को कंपनी ने बताया- बोर्ड ने शिव की जगह उनकी बेटी और कंपनी की गैर-कार्यकारी निदेशक रोशनी नाडर मल्होत्रा को बोर्ड और कंपनी का चेयरपर्सन बनाने का फैसला किया है। शिव नाडर ने पद से हटने की इच्छा जाहिर की थी। हालांकि, वे कंपनी के एमडी बने रहेंगे।

रोशनी देश की सबसे अमीर महिला, टॉप-100 मोस्ट पावरफुल वुमन-2019 में शामिल

38 साल की रोशनी का नाम फोर्ब्स की "द वर्ल्ड्स 100 मोस्ट पावरफुल वुमन-2019" में शामिल है। इतना ही नहीं, आईआईएफएल वैल्थ हुरुन इंडिया के मुताबिक, 2019 में 36,800 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ रोशनी देश की सबसे अमीर महिला हैं।

इकलौती संतान पर शिव को है सबसे ज्यादा भरोसा

शिव नाडर ने एक बार कहा था- 'मैं नेतृत्व को अवसर नहीं देता, बल्कि उन लोगों पर निगाह रखता हूं, जो कमान संभाल सकते हैं।' उन्होंने अपनी बेटी रोशनी पर भरोसा किया और कमान संभालने की जिम्मेदारी दे दी। रोशनी एचसीएल इंटरप्राइज की एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर और सीईओ भी हैं।

सिर्फ 28 साल की उम्र में बनी थीं सीईओ

रोशनी शुरू से ही एचसीएल के सारे स्ट्रैटजिक फैसले लेती रही हैं। यही वजह है कि महज 28 साल की उम्र में आईटी कंपनी एचसीएल की सीईओ बन गईं। बाद में वे कॉरपोरेशन में एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर बन गईं।

रोशनी केवल कंपनी ही नहीं चलातीं, बल्कि शिव नाडर फाउंडेशन के एजुकेशन इनीशिएटिव में भी योगदान देती हैं। यह फाउंडेशन एजुकेशन पर काम करता है। इस फाउंडेशन ने भारत के कुछ टॉप कॉलेज और स्कूल्स स्थापित किए हैं।

दिल्ली में पली बढ़ीं है रोशनी नाडर

रोशनी दिल्ली में पली बढ़ीं है। उनकी स्कूली शिक्षा भी यहीं हुई। इसके बाद मीडिया में अपनी ग्रेजुएशन नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी से की। इस दौरान वे सीएनबीसी चैनल में इन्टर्न भी रहीं। सोशल इंटरप्राइज मैनेजमेंट और स्ट्रैटजी पर ध्यान देने के साथ ही उन्होंने केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, यूएसए से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स डिग्री हासिल की। वह वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के फोरम ऑफ यंग ग्लोबल लीडर्स की स्टूडेंट भी रह चुकी हैं।

पिता के कहने पर छोड़ी थी मीडिया की नौकरी

ग्रेजुएशन के बाद रोशनी ने स्काई न्यूज के लंदन ऑफिस में काम भी किया। इसके बाद अपने पिता के कहने पर उन्होंने ये जॉब छोड़ दिया। अक्टूबर 2008 में रोशनी भारत लौट आईं और पिता शिव की कंपनी एचसीएल कॉर्पोरेशन से जुड़ गईं। रोशनी ने शिखर मल्होत्रा से शादी की है। उनका एक बेटा भी है। पति शिखर भी शिव नाडर फाउंडेशन में रोशनी की मदद करते हैं।

Next Story
Share it
Top