Top
undefined

500 स्थानों से एक लाख शेयर धारक जुड़ सकेंगे, जियो फाइबर और फ्यूचर ग्रुप की हिस्सेदारी पर रहेगा फोकस

500 स्थानों से एक लाख शेयर धारक जुड़ सकेंगे, जियो फाइबर और फ्यूचर ग्रुप की हिस्सेदारी पर रहेगा फोकस
X

मुंबई। देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की 43 वीं एजीएम बुधवार को होगी। इस एजीएम में सउदी अरामको, जियो की लिस्टिंग, जियो फाइबर की प्लानिंग और फ्यूचर समूह में हिस्सेदारी को लेकर घोषणा हो सकती है। साथ ही जियो के अब वैल्यू क्रिएशन पर भी फोकस होगा।

चूंकि यह वर्चुअल एजीएम है इसलिए 500 जगहों से एक लाख शेयर धारक इसमें भाग ले सकते हैं। ऑयल से टेलीकॉम बिजनेस में शामिल रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43 वीं एजीएम यह होगी।

आरआईएल का शेयर दबाव में, 2 प्रतिशत के करीब टूटा

उधर दूसरी ओर सोमवार को आरआईएल का शेयर 1947 रुपए पर पहुंचने के बाद मंगलवार को दबाव में रहा। यह सुबह के कारोबार में करीबन 2 प्रतिशत तक टूट कर 1887 रुपए तक चला गया। इसका मार्केट कैप भी 12 लाख करोड़ रुपए तक चला गया था। इसी तरह इसके राइट्स इश्यू रिलायंस पार्शियल का शेयर भी करीबन 5 प्रतिशत टूट कर 1,005 रुपए तक चला गया।

इस बार की एजीएम अलग होगी

इस बार की रिलायंस इंडस्ट्रीज की एजीएम थोड़ी अलग होगी। अलग इसलिए क्योंकि इसने जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी बेचकर 1.18 लाख करोड़ रुपए जुटाए। राइट्स इश्यू से 53,000 करोड़ रुपए जुटाए। इस तरह अप्रैल से लेकर अब तक आरआईएल कुल 1.70 लाख करोड़ रुपए जुटाकर कंपनी को डेट फ्री करने की वादे पर सफल रही है।

शेयर टॉप पर, मार्केट कैप टॉप पर

यह एजीएम ऐसे समय में है जब रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर उच्चतम स्तर पर है। कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन टॉप पर 12 लाख करोड़ के पार है। शेयरधारकों के लिए भी यह साल अच्छा रहा है। तीन महीने में शेयर ने दोगुना का लाभ उनको दिया है। इसलिए एजीएम में शेयरधारक भी खुश रहेंगे।

सउदी अरामको की डील पर हो सकती है घोषणा

बाजार के विश्लेषकों के मुताबिक सउदी अरामको सौदे पर विशेष रूप से लोगों की नजर होगी। यह एक बात है जो उनके लिए लंबित है। उस सौदे पर मेरा मानना है कि काम चल रहा है। इसकी डील से आरआईएल को 1.6 लाख करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद है। एजीएम में इसकी घोषणा हो सकती है। अगर यह डील हो जाती है तो यह गेम चेंजर होगी। इसलिए निवेशकों को इस पर कुछ क्लीयर मैसेज मिलेगा। इसी तरह फ्यूचर ग्रुप में हिस्सेदारी पर भी घोषणा हो सकती है। साथ ही 5 जी पर भी कुछ बातें आ सकती हैं। जियो की लिस्टिंग पर निगाहें होंगी।

जियो की योजनाओं पर होगी बात

दूसरी बात जो होगी वह भारी-भरकम जुटाई गई राशि के बारे में होगी। एक अग्रणी ब्रोकरेज हाउस ने कहा कि जहां तक जियो का सवाल है तो इसे लेकर अब क्या प्लान है? आपको यह समझना होगा कि बाजारों और जियो की योजनाओं को लेकर ज्यादा कुछ खुलासा नहीं किया गया है। इसलिए आगे आने वाले दिनों में काफी कुछ महत्वपूर्ण होने वाला है।

जियो प्लेटफॉर्म में वैल्यू को लेकर होगी घोषणा

मूलरूप से यह देखना है कि जिन लोगों ने ये पैसा जुटाया है वे जियो प्लेटफॉर्म में वैल्यू कैसे जोड़ते हैं। वे अगले तीन से पांच साल में क्या कर रहे होंगे और संभवतः जियो की लिस्टिंग के लिए टाइमलाइन पर काम कर रहे होंगे। ये सभी कुछ ऐसी चीजें हैं, जिनके लिए बाजार की निगाहें एजीएम पर टिकी होंगी। एक विश्लेषक ने कहा कि फिलहाल बाजार अच्छी स्थिति में है। इसलिए रिलायंस की एजीएम में कुछ नया आता है तो बाजार को और सहारा मिल सकता है।

बता दें कि पिछले साल मुकेश अंबानी ने रिलायंस को कर्जमुक्त करने की घोषणा की थी और उसे इस एजीएम से पहले ही पूरा कर लिया है। ऐसे में इस एजीएम की घोषणाओं पर नजर होगी।

विश्व में शीर्ष 51 कंपनियों की लिस्ट में है आरआईएल

आरआईएल की अब तक सभी एजीएम लोगों की व्यक्तिगत उपस्थिति के साथ होती रही हैं। ऐसे में मुंबई से बाहर रहने वाले शेयरधारक इस सालाना कार्यक्रम में बहुत कम ही भागीदारी कर पाते हैं। लेकिन अब नई परिस्थितियों में मुंबई से बाहर के निवेशक भी एजीएम कार्यक्रम को सीधे देख सेकेंगे, नई योजनाओं के बारे में जान सकेंगे और इसमें भागीदारी भी कर सकेंगे।

सोमवार को कई रिकॉर्ड हासिल किए कंपनी ने

सोमवार को आरआईएल ने कई रिकॉर्ड हासिल किए। एक तो इसका शेयर 1947 रुपए के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा। दूसरा, इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन भी 12.34 लाख करोड़ रुपए तक जा पहुंचा। तीसरा, यह विश्व की सबसे मूल्यवान 51 कंपनियों की लिस्ट में शामिल हो गई। इसमें टॉप पर सउदी अरबिया की अरामको है जिसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 1,784 बिलियन डॉलर, दूसरे पर एपल 1,663 अरब डॉलर के साथ, तीसरे पर माइक्रोसॉफ्ट है जिसका 1,620 अरब डॉलर वैल्यूएशन है।

Next Story
Share it
Top