Top
undefined

पॉलिसी उल्लंघन को लेकर गूगल ने प्ले स्टोर से हटाए सैकड़ों लोन ऐप

पॉलिसी उल्लंघन को लेकर गूगल ने प्ले स्टोर से हटाए सैकड़ों लोन ऐप
X

नई दिल्ली। गूगल ने गुरुवार को कहा कि कंपनी ने भारत में सैकड़ों पर्सनल लोन ऐप का रिव्यू किया। इन ऐप्स को यूजर्स और सरकारी एजेंसियों द्वारा चिह्नित किया गया था। इनमें वो ऐप्स भी शामिल हैं जो गूगल की यूजर्स सेफ्टी पॉलिसी का उल्लंघन करते पाए गए। गूगल ने इन्हें तुरंत प्ले स्टोर से हटा दिया गया था। कितने और किन ऐप्स को हटाया गया है फिलहाल इस पर कंपनी ने कोई सफाई नहीं दी है।

इसके अलावा बाकी बचे लोन ऐप्स के डेवलपर्स को यह बताने के लिए कहा है कि उनका ऐप स्थानीय कानूनों और नियमों का पालन कैसे करता है। ऐसा नहीं कर पाने पर इन ऐप्स को भी हटा दिया जाएगा।

गूगल ने एक पोस्ट में कहा, "गूगल के प्रोडक्ट में सुरक्षित एक्सपीरिएंस प्रदान करना ही हमारी प्राथमिकता है। हमारी ग्लोबल प्रोडक्ट पॉलिसी इसी लक्ष्य के साथ डिजाइन और इम्प्लीमेंट की जाती है, और हम हमेशा अपनी सर्विसेस को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं।"

हटाए गए ऐप्स के नाम जारी नहीं किए

कंपनी ने कहा- "हमने भारत में यूजर्स और सरकारी एजेंसियों द्वारा चिह्नित किए गए सैकड़ों पर्सनल लोन ऐप का रिव्यू किया है। गूगल की यूजर सेफ्टी पॉलिसी का उल्लंघन करने वाले ऐप को तुरंत स्टोर से हटा दिया गया है और बचे हुए ऐप के डेवलपर्स से कहा है कि यह बताने के लिए कहा है कि उनके ऐप्स स्थानीय कानूनों और नियमों का पालन कैसे करते हैं। ऐसा करने में असफल रहने वाले ऐप्स को बिना किसी सूचना के हटा दिया जाएगा। इसके अलावा, गूगल इस मुद्दे की जांच में कानून प्रवर्तन एजेंसियों की सहायता करना जारी रखेगा।

बुधवार को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ऑनलाइन लोन देने से संबंधित उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं के बीच डिजिटल लोन देने को बढ़ावा देने के लिए रेगुलेटरी नियमों का सुझाव देने के लिए एक कार्यदल के गठन की घोषणा की।

यह भी कहा- कि हाल ही में ऑनलाइन लोन देने वाले प्लेटफॉर्म/मोबाइल लेंडिंग ऐप्स की लोकप्रियता ने कुछ गंभीर चिंताएं पैदा की हैं, जिनके कुछ बुरे परिणाम देखने में भी आ चुके हैं। पिछले महीने, आरबीआई ने जनता को आगाह किया था कि वे अनअथॉराइज्ड डिजिटल लेंडिंग प्लेटफॉर्म और मोबाइल ऐप के झांसे में न आएं।

अपने पोस्ट में, गूगल ने कहा कि उसके प्ले स्टोर पर सभी डेवलपर्स गूगल प्ले डेवलपर डिस्ट्रीब्यूशन एग्रीमेंट की शर्तों से सहमत हैं, जो इस बात को सुनिश्चित करता है कि ऐप को आम तौर पर सभी गाइडलाइन्स के साथ लागू नियमों और कानूनों का पालन करना चाहिए।

Next Story
Share it