Top
undefined

SBI ने गोल्ड लोन की ब्याज दर में कटौती की, अब 7.50 फीसदी ब्याज पर मिलेगा 50 लाख तक का पर्सनल गोल्ड लोन

SBI ने गोल्ड लोन की ब्याज दर में कटौती की, अब 7.50 फीसदी ब्याज पर मिलेगा 50 लाख तक का पर्सनल गोल्ड लोन
X

नई दिल्ली। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने पर्सनल गोल्ड लोन की ब्याज दरों में कटौती की है। ब्याज दर को 7.75 फीसदी से घटाकर अब 7.50 फीसदी सालाना किया गया है। इसके तहत ग्राहक सोना रखकर 50 लाख रुपए तक का कर्ज ले सकता है। एसबीआई के अनुसार न्यूनतम कागजी कार्रवाई और कम ब्याज दरों के साथ बैंकों द्वारा बेचे गए सोने के सिक्कों सहित सोने के गहने गिरवी रखकर बैंक से गोल्ड लोन का लाभ उठाया जा सकता है। नई ब्याज दर 30 सितंबर तक मान्य रहेंगी।

प्रोसेसिंग फीस भी घटी

SBI गोल्ड लोन पर प्रो​सेसिंग फीस घट चुकी है। अब प्रोसेसिंग फीस के रूप में बैंक लोन राशि का 0.25%+ GST ले रहा है, जो कि न्यूनतम 250 रुपए+ GST है। वहीं YONO ऐप के जरिए आवेदन करने वाले के लिए कोई प्रोसेसिंग फीस नहीं है।

सोने की वैल्यू का 90 फीसदी मिलेगा लोन

अगस्त 2020 में RBI ने आम आदमी को राहत देते हुए गोल्ड ज्वैलरी पर कर्ज की वैल्यू को बढ़ा दिया। अब गोल्ड ज्वैलरी पर मार्च 2021 तक उसकी वैल्यू का 90 फीसदी तक कर्ज मिल सकेगा, जो कि इस निर्देश से पहले 75 फीसदी तक था।

कौन ले सकता है लोन?

18 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्ति एसबीआई से व्यक्तिगत स्वर्ण ऋण के लिए आवेदन करने के पात्र हैं। व्यक्ति एकल या संयुक्त आधार पर आवेदन कर सकते हैं और उनके पास आय का एक स्थिर स्रोत होना चाहिए। आपको ऋण के लिए आय का प्रमाण देने की आवश्यकता नहीं है।

36 महीने में चुकाना होता है कर्ज

इसके तहत अधिकतम 50 लाख के लिए ऋण लिया जा सकता है। लोन की न्यूनतम राशि 20000 रुपए है। SBI के पास विभिन्न योजनाओं के लिए अलग-अलग भुगतान अवधि है। गोल्ड लोन के मूलधन और ब्याज की अदायगी डिस्बर्समेंट के महीने से शुरू होगी। लिक्विड गोल्ड लोन के लिए लेन-देन की सुविधा और मासिक ब्याज के साथ ओवरड्राफ्ट खाता के हिसाब से तय की जाती है। बुलेट रिपेमेंट गोल्ड लोन स्कीम में ऋण की अवधि से पहले या खाता बंद करने पर कर्ज अदायगी एक मुश्त हो सकती है। SBI गोल्ड और लिक्विड गोल्ड लोन दोनों की अधिकतम रिपेमेंट 36 महीने है, जबकि SBI बुलेट रिपेमेंट गोल्ड लोन की अवधि 12 महीने है।

Next Story
Share it
Top