Top
undefined
Breaking

फादर्स डे: पिता ने जान देकर बच्ची को दी जिंदगी,जंगल के रास्ते घर लौट रहा था श्रमिक, करंट की चपेट में आने से अपनी जान गंवााई

फादर्स डे: पिता ने जान देकर बच्ची को दी जिंदगी,जंगल के रास्ते घर लौट रहा था श्रमिक, करंट की चपेट में आने से अपनी जान गंवााई

कोरबा.जिले में रविवार को एक श्रमिक की मौत हो गई। वह जंगल के रास्ते अपने गांव लौट रहा था। तभी करंट की चपेट में आ गया और मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। ग्रामीणों ने जंगल में सुअर मारने के लिए करंट वाली तार बिछा रखी थी। इसी के संपर्क में आने की वजह से युवक की जान चली गई। घटना स्थल पर एक जंगली सुअर भी मरा पड़ा मिला। घटना मड़वारानी जंगल के पास हुई। युवक के करंट की चपेट में आने के बाद उसके साथ लौट रहे अन्य श्रमिक साथी भाग गए। उरगा थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मृतक का नाम दिलहरण है। वह परिवार समेत प्रयागराज से वापस लौट रहा था। घर से ठीक आधा किलोमीटर पहले कुरिहापार भैसामुड़ा के पास वह करंट की चपेट में आ गया। ग्रामीण इस तकनीक का इस्तेमाल जंगली सुअर के शिकार के लिए करते हैं। हादसे के वक्त 5 साल की मासूम बच्ची भी उसकी गोद में थी । करंट लगते ही उसने बच्ची को दूर फेंक दिया और उसकी जान बच गई। मृतक के साथ उसकी पत्नी सुमित्रा व गांव का लक्ष्मी नारायण नाम का युवक अपनी पत्नी दिलवाई धनवार के साथ लौट रहा था। यह लोग जंगल की ओर से गांव में आ रहे थे, ताकि क्वारैंटाइन सेंटर ना जाना पड़े।

Next Story
Share it
Top