Top
undefined

छत्तीसगढ़: 14 हजार 400 करोड़ स्र्पये किसानों के खाते में पहुंचा, 82 लाख 80 हजार मीट्रिक टन धान की खरीद कर टुटा रिकार्ड

बीते वर्ष की तुलना में इस बार किसानों की संख्या में 15.17 फीसद की वृद्धि हुई है, कभी भी राज्य में इतने बड़े पैमाने पर समर्थन मूल्य में नहीं खरीदी गई है धान

छत्तीसगढ़: 14 हजार 400 करोड़ स्र्पये किसानों के खाते में पहुंचा, 82 लाख 80 हजार मीट्रिक टन धान की खरीद कर टुटा रिकार्ड
X

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार ने इस वर्ष समर्थन मूल्य पर 82 लाख 80 हजार मीट्रिक टन धान की खरीद कर रिकार्ड तोड़ दिया है। इससे पहले कभी इतने बड़े पैमाने पर समर्थन मूल्य में धान की खरीदी नहीं हुई थी। खाद्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार इस खरीद के एवज में किसानों को 14751 करोड़ स्र्पये दिया जाना है। इसमें से 14 हजार 400 करोड़ स्र्पये किसानों के खाते में पहुंच चुका है। इस बार साढ़े 19 लाख से अधिक किसानों ने धान बेचने के लिए पंजीयन कराया था, वहीं सरकार ने 85 लाख मीट्रिक टन खरीद का लक्ष्य रखा था।

किसानों की संख्या में 15 फीसद की बढ़त

खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बीते वर्ष की तुलना में इस बार किसानों की संख्या में 15.17 फीसद की वृद्धि हुई है। वहीं पंजीकृत किसानों के रकबे में 4.98 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। 2018 की तुलना में सीमांत व लघु कृषकों के पंजीकृत संख्या में वृद्धि क्रमश: 25.29 व 9.3 फीसदी रही है।

लघु व सीमांत कृषकों के रकबे में वृद्धि का प्रतिशत क्रमश: 19.9 व 8.4 फीसद रहा, जबकि धान बेचने वाले लघु और सीमांत कृषकों की संख्या में 25.80 और 10.31 फीसद की वृद्धि हुई। इसी प्रकार विगत खरीफ विपणन वर्ष की तुलना में धान बेचने वाले लघु व सीमांत किसानों के धान के रकबे में क्रमश: 21.12 व 9.47 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई है।

साढ़े चार हजार मामले धान अवैध परिवहन के

इस खरीद सीजन में राज्य में अवैध धान की आवक को रोकने की गई कार्रवाई में कुल 4502 प्रकरण दर्ज किए गए। इसमें लगभग 100.04 करोड़ स्र्पये मूल्य का 54,819 टन धान मंडी अधिनियम के अंतर्गत जब्त किया गया। अवैध धान के परिवहन में लिप्त 491 वाहनों पर कार्यवाही की गई। अवैध धान की आवक रोकने के लिए राजस्व, पुलिस, वन व मंडी विभाग की संयुक्त रूप से महत्पवपूर्ण भूमिका रही है।

अब तक की धान खरीदी ब्यौरा

वर्ष - धान की मात्रा - किसानों को भुगतान

2000-01 - 463104 - 243.84

2001-02 - 1334227 - 725.46

2002-03 - 1474382 - 823.48

2003-04 - 2705067 - 1519.95

2004-05 - 2886730 - 1651.90

2005-06 - 3586742 - 2089.98

2006-07 - 3714281 - 2334.96

2007-08 - 3151005 - 2074.56

2008-09 - 3747000 - 3225.80

2009-10 - 4408696 - 4238.15

2010-11 - 5073384 - 5131.06

2011-12 - 5900572 - 6565.80

2012-13 - 7121939 - 8992.40

2013-14 - 7972156 - 10607.39

2014-15 - 6310424 - 8726.77

2015-16 - 5929232 - 8482.05

2016-17 - 6959059 - 9860.76

2017-18 - 5688938 - 8890.87

2018-19 - 8038030 - 16933.06

(नोट- धान की मात्रा एमटी व राशि करोड़ स्र्पये में)

Next Story
Share it
Top