Top
undefined

छत्तीसगढ़ आईटी रेड: छापे से पहले अधिकारी सौम्या चौरसिया ने पहुंचाए थे सीएम हाउस में पांच बैग, वीडियो हुआ वायरल

छत्तीसगढ़ आईटी रेड इस बात का खुलासा खुद सौम्या की सरकारी गाड़ी चलाने वाले ड्राइवर पन्नाालाल ने आयकर अफसरों के सामने किया है।

छत्तीसगढ़ आईटी रेड: छापे से पहले अधिकारी सौम्या चौरसिया ने पहुंचाए थे सीएम हाउस में पांच बैग, वीडियो हुआ वायरल
X

भिलाई. गुरुवार को आबकारी विभाग के ओएसडी अरुण पति त्रिपाठी के घर छापे के दूसरे दिन मुख्यमंत्री सचिवालय की उप सचिव और मुख्यमंत्री की करीबी अधिकारी सौम्या चौरसिया ने अपने बंगले से पांच बैग सीएम हाउस पहुंचाए थे। इस बात का खुलासा खुद सौम्या की सरकारी गाड़ी चलाने वाले ड्राइवर पन्नाालाल ने आयकर अफसरों के सामने किया है। आईटी से पूछताछ के एक वायरल वीडियो में ड्राइवर पन्नाालाल बता रहा है कि 28 फरवरी की दोपहर 11 बजे सौम्या मैडम, पांच बड़े-बड़े बैग में दस्तावेज लेकर निकली थीं और सीएम हाउस रायपुर गईं थीं।

सोना व अन्य कीमती धातुओं की मिली जानकारी

बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स विभाग की टीम ड्राइवर पन्नालाल को अपने साथ लेकर कहीं गई और एक घंटे बाद वापस महिला अधिकारी के बंगले पर लौटी। खबर मिली है कि पन्नालाल से पूछताछ में महिल अधिकारी के बंगले में सोना व अन्य कीमती धातुओं की भी जानकारी मिली है। टीम अभी लगातार जांच कर रही है।

बंगले को सील करने के बाद दोबारा पहुंची आइटी की टीम ने सौम्या चौरसिया की मौजूदगी में सील को खोला था। इसके बाद सिलसिलेवार पूछताछ की गई। जब ड्रावर से पूछताछ हुई तो आयकर टीम को बताया कि उसने पांच बैग सौम्या मैडम के घर से सीएम हाउस पहुंचाए थे।

बता दें कि आयकर विभाग के अधिकारी पहले 28 फरवरी को सौम्या चौरसिया के जुनवानी रोड सूर्या रेसीडेंसी स्थित बंगले पर छापा मारने पहुंची थी। बंगला बंद होने के कारण टीम के अधिकारियों ने करीब 30 घंटे तक बंगले के बरामदे में ही बैठकर इंतजार किया, लेकिन सौम्या के न पहुंचने की स्थिति में 29 फरवरी की शाम को बंगले को सील कर दिया गया।

बंगला सील होने के कुछ घंटे बाद सौम्या के पति सौरभ मोदी पहुंचे और उसके दूसरे दिन रविवार की शाम को सौम्या भी पहुंचीं। उन्होंने आयकर विभाग के अधिकारियों से फोन पर बात की। इसके बाद आयकर विभाग के अफसर सोमवार दोपहर 11:45 बजे पहुंचे। सौम्या की मौजूदगी में दरवाजे की सील खोलकर जांच शुरू की गई। सौम्या के साथ घ्ार में काम करने वाली दो महिलाओं को भी बंगले के भीतर रखा गया है।

आइटी के अधिकारियों ने शाम को सौम्या के ड्राइवर पन्नाालाल को बुलाया। सौम्या की सरकारी गाड़ी को लेकर उनका ड्राइवर शाम 05:07 बजे पहुंचा। टीम के अफसरों ने उसे 05:12 बजे बंगले के भीतर बुलाया और फिर तीन मिनट के लिए बाहर कर दिया। इसके बाद फिर से उसे बंगले में बुलाया और पूछताछ शुरू की। रात 08:40 बजे चालक बाहर निकला।

मीडिया से चर्चा करते हुए ड्राइवर पन्नाालाल ने बताया कि वो 28 फरवरी को दोपहर में सौम्या चौरसिया के कहने पर बंगले से चार-पांच बड़े-बड़े बैग में दस्तावेज लेकर सीएम हाउस रायपुर गया था। वहां बैग छोड़ने के बाद सौम्या चौरसिया को पचपेड़ी नाका चौक पर छोड़कर वापस भिलाई आ गया।

पचपेड़ी नाका चौक से सौम्या किसी दूसरी गाड़ी में गई थीं। रविवार को सौम्या के बुलावे पर चालक फिर से रायपुर गया और सौम्या को लेकर भिलाई पहुंचा था। हालांकि चालक पन्नाालान ने ये खुलासा नहीं किया है कि वो दस्तावेज किस चीज के थे, लेकिन सूत्रों का कहना है कि दस्तावेज, जमीन और अन्य अघोषित संपत्ति से जुड़े हो सकते हैं।

28 प्लाट की निकली जा रही जानकारी

आयकर विभाग की टीम के पास एक शिकायत और कुछ दस्तावेज भी हैं। इसमें सौम्या चौरसिया की मां शांति देवी चौरसिया और सास आशा मणि मोदी के नाम पर ठकुराइनटोला में कुल 28 प्लाट का जिक्र है। आयकर विभाग की टीम उस जमीन से जुड़े दस्तावेजों को फिजिकली और सॉफ्टवेयर की मदद से खंगाल रही है। इसके अलावा सौम्या चौरसिया के बंगले और मां के फ्लैट को खरीदने के लिए इस्तेमाल की गई राशि के संबंध में जानकारी मांगी गई है

Next Story
Share it
Top