Top
undefined

राजनीतिक खेल के चलते पूर्व विधायक अनूप कुमार साय ने किया महिला वकील कल्पना दास और उसकी बेटी बबली की हत्या

इस मामले में ओडिशा से 3 बार विधायक रह चुके अनूप कुमार साय को गिरफ्तार किया गया है, 6 माह से अनूप पर नजर रख रही थी पुलिस, हत्या में प्रयुक्त हथियार और गाड़ी बरामद नहीं

राजनीतिक खेल के चलते पूर्व विधायक अनूप कुमार साय ने किया महिला वकील कल्पना दास और उसकी बेटी बबली की हत्या
X

रायगढ़. ओडिशा के पूर्व विधायक अनूप कुमार साय ने राजनीतिक करियर बचाने के लिए महिला वकील कल्पना दास और उसकी बेटी बबली की हत्या की थी। अनूप के साथ कल्पना लिव इन रिलेशन में थी और वह शादी के लिए लगातार दबाव बना रही थी। साय को यह नागवार गुजरी तो रायगढ़ में लाकर उसने कल्पना और बबली की हत्या कर दी और इसे हादसे का रंग देने की कोशिश की। बहुचर्चित मां-बेटी के डबल मर्डर मामले में शुक्रवार को रायगढ़ एसपी ने कई अहम खुलासे किए। पुलिस पूछताछ में अनूप ने बताया कि कल्पना लगातार शादी और जायजाद में हिस्से की डिमांड कर रही थी। हत्या वाले दिन कल्पना दास और बबली को अर्दना स्थित साईं मंदिर में शादी करने की बात कहकर लाया था। पहले लोहे की राड से दोनों के सिर पर प्रहार किया और फिर पहचान छिपाने के लिए उनके सिर कुचल दिए थे। आरोपी विधायक ने हत्या में चालक बर्मन टेप्पो के भी शामिल होने के बात स्वीकार की हैं। वारदात में प्रयुक्त हथियार और गाड़ी अभी नहीं बरामद हुई है। 7 मई 2016 को चक्रधर नगर क्षेत्र के संबलपुरी में एक महिला और एक नाबालिग का कुचला हुआ शव मिला था।

पहले बना पालक बाद में कर दी हत्या

पूर्व विधायक अनूप साय ने बबली का पालक बनकर स्कूल में दाखिला कराया था, लेकिन अपने राजनीतिक फायदे के लिए उसी का कत्ल कर दिया। आरोपी विधायक के पास से दोनों मोबाइल बरामद किए हैं, जिससे हत्या के एक दिन पहले 6 मई 2016 की बातचीत मौजूद हैं। एसपी ने बताया कि पूर्व विधायक के दिल्ली, गोवा सहित अन्य जगह घूमने जाने के भी फोटो बरामद किए हैं। इसके अलावा बाजार में साथ घूमने की तस्वीरें भी हैं।

कल्पना की आइब्रो से हुई शिनाख्त

कल्पना के पूर्व पति सुनील श्रीवास्तव ने बताया कि रायगढ़ क्राइम ब्रांच ने शिनाख्त के लिए बुलाया था। बेटी बबली का शरीर इतना फूल गया था कि मैं पहचान नहीं पाया, जबकि कल्पना की पहचान आइब्रो से की थी। दोनों के सिरों को बहुत बेरहमी से कुचला था। 22 मई 2017 को पुलिस ने डीएनए टेस्ट कराया तो बबली की शिनाख्त हो गई। बेटी की मौत से दुखी सुनील ने बताया कि मैने दूसरी शादी भी नहीं की, बेटी की शादी के लिए पैसे भी जमा कर रखे थे। अब सब बेकार साबित हो रहे हैं।

चक्रधरनगर थाने पहुंचे पूर्व पति ने फांसी की उठाई मांग

सुनील श्रीवास्तव ने आरोपी विधायक को फांसी देने की मांग की। पूर्व पति ने बताया कि नवंबर 2000 में कल्पना दास के साथ लव मैरिज की थी। शादी के चार साल बाद ही पारिवारिक झगड़े के चलते तलाक ले लिया था। बेटी के लिए मैं उससे मिलने की कोशिश करता था, लेकिन वह मुझसे बात नहीं करता थी। 2006 में कल्पना और विधायक के बीच संबंध की जानकारी मिली। सुनने में आया कि विधायक कल्पना को सुंदरपदा में एक फ्लैट में रह रहे है। एक बार बेटी से मिलने की कोशिश की तो विधायक ने मिलने नहीं दिया।

Next Story
Share it
Top