Top
undefined

पंचायत अध्यक्ष चुनाव: अरूण सिंह चौहान अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचित, हेमकुंवर अजीत श्याम निर्विरोध चुने गए उपाध्यक्ष

अरूण सिंह चौहान को 13 वोट के भारी अंतर से हासिल हुई जीत, भाजपा के उपाध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी न उतारने से निर्विरोध उपाध्यक्ष बने हेमकुंवर अजीत श्याम

पंचायत अध्यक्ष चुनाव: अरूण सिंह चौहान अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचित, हेमकुंवर अजीत श्याम निर्विरोध चुने गए उपाध्यक्ष
X

बिलासपुर. जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए हुए प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव में कांग्रेस के अरूण सिंह चौहान अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचित हुए है। भाजपा की ओर से नूरी दिलेंद्र कौशिल को हार का मुह देखना पड़ा। अध्यक्ष का चुनाव हारने के बाद भाजपा ने उपाध्यक्ष के लिए अपना प्रत्याशी ही मैदान में नहीं उतारा लिहाजा हेमकुंवर अजीत श्याम निर्विरोध उपाध्यक्ष निर्वाचित हो गए। शुक्रवार को जिला पंचायत अध्यक्ष व उपाध्यक्ष का चुनाव संपन्न हुआ। चुनाव में टूट-फूट और क्रास वोटिंग की संभावना को देखते हुए कांग्रेस ने तगड़ा घेराबंदी किया था। यही नहीं जिला पंचायत चुनाव जीतकर आए सदस्यों सभी सदस्यों को पुरे समय निगरानी में रखा। यही नहीं जिला पंचायत से भवन परिसर में कांग्रेस के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में मुस्तैद थे। दोपहर 12 बजे के आसपास भारी गहमा गहमी के बीच अरूण सिंह चौहान ने अध्यक्ष पद के लिए पर्चा दाखिल किया और भाजपा की ओर से नूरी दिलेंद्र कौशिल ने आवेदन जमा किया। पर्चा दाखिल करने के बाद अरूण सिंह चौहान को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारी महापौर बंगले में चले गए। जहां पर अन्य सदस्यों को भी रखा गया था।

एक बजे सभी सदस्य पहुंचे मतदान के लिए

दोपहर के एक बजे सभी सदस्य मतदान के लिए पहुंचे और मतदान किया। मतदान के बाद जब मतगणना हुई तो कांग्रेस प्रत्याशी अरूण सिंह चौहान को अप्रत्याशित जीत हासिल हुई। कांग्रेस को 16 सदस्यों के वोट मिलने की संभावना थी लेकिन 17 वोट मिले। दूसरी ओर भाजपा प्रत्याशी को 6 लने की संभावना थी लेकिन उन्हे मात्र चार वोट से ही संतोष करना पड़ा। भाजपा के सदस्य ने कांग्रेस प्रत्याशी को वोट दे दिया तो एक सदस्य का वोट निरस्त हो गया। लिहाजा अरूण सिंह चौहान को 13 वोट के भारी अंतर से जीत हासिल हुई। अध्यक्ष का परिणम आते ही भाजपा के सारे सदस्य लौट गए और उपाध्यक्ष के लिए पर्चा ही दाखिल नहीं किया। लिहाजा कांगे्रस हेमकुंवर अजीत श्याम को निर्विरोध उपाध्यक्ष निर्वाचित किया गया। इसके पहले नव निर्वाचित जिला पंचायत सदस्यों के साथ पूर्व सांसद और पर्यवेक्षक करूणा शुक्ला ने एक एक कर बातचीत की। सामुहिक बैठक कर जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए सर्वसम्मति बनाने का प्रयास किया। इस दौरान करूणा शुक्ला सभी सदस्यों की बातों को अकेले में गौर से सुना। उनके समर्थकों के बारे में भी जानकारी मांगी। साथ ही कांग्रेस के प्रति उनके योगदान को लेकर भी चर्चा की। बीते देर रात तक चली रायशुमारी के बाद प्रदेश और जिला संगठन के नेताओं ने भी करूणा शुक्ला के सामने अपनी बातों को रखा। जिसके बाद अरूण चौहान के नाम पर मुहर लगा दिया।

जितेंद्र हुए नाराज

आईजी बंगले के सामने महापौर बंगले में जिला पंचायत के लिए जीतकर आए सभी सदस्यों को रूकवाया गया था। यहां पर अध्यक्ष के लिए रायसुमारी चल रही थी। जब सभी सदस्यों की बात सुनने के बाद पूर्व सांसद करूणा शुक्ला ने संगठन और मुख्यमंत्री की ईच्छा से सदस्यों को अवगत कराया और बताया कि अरूण सिंह चौहान को अध्यक्ष बनाने का फैसला हुआ है। इस घोषणा के बाद तखतपुर क्षेत्र से चुनाव जीतकर आए जितेंद्र पांडेय भड़क गए और उपेक्षा का आरोप लगाने लगे। लिहाजा कुछ देर के लिए माहौल गरमा गया था। हालांकि बाद में कांग्रेस नेताओं की समझाईस के बाद वे शात हो गए और पुरे समय अरूण सिंह चौहान के साथ रहे।

Next Story
Share it
Top