Top
undefined

राजस्थान में विधानसभा सत्र कल से, भाजपा अविश्वास प्रस्ताव लाएगी, वसुंधरा बोलीं- कांग्रेस ने जनता का नहीं, खुद के हितों का ध्यान रखा

राजस्थान में विधानसभा सत्र कल से, भाजपा अविश्वास प्रस्ताव लाएगी, वसुंधरा बोलीं- कांग्रेस ने जनता का नहीं, खुद के हितों का ध्यान रखा
X

जयपुर। राजस्थान में शुक्रवार से विधानसभा सत्र शुरू हो रहा है। इसमें भाजपा गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि सरकार कई मुद्दों पर जूझ रही है। उनके विश्वास प्रस्ताव लाने की उम्मीद है, लेकिन हम अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए तैयार हैं।

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि पार्टी ने पूरी तैयारी कर रखी है। उन्होंने कहा कि सरकार एक महीने से बाड़े में बंद है। प्रदेश में केंद्र सरकार की योजनाओं की अनदेखी की जा रही है। ये सरकार विरोधाभास की सरकार है।

उधर, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा ने भी कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जनता का नहीं खुद के हितों का ध्यान रखा। हमने राजस्थान में 10 साल खूब काम किया था। कांग्रेस सरकार आने के बाद हमारी योजनाओं के नाम बदल दिए गए या बंद कर दी गईं। अब हमें केंद्र के कामों को लोगों तक पहुंचाना है।

कांग्रेस के सियासी संकट के बाद वसुंधरा पहली बार जयपुर पहुंचीं। इससे पहले 11 अगस्त को भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी, लेकिन वसुंधरा शामिल नहीं हुई थीं। आज की बैठक में 14 अगस्त से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र को लेकर रणनीति बनाई गई।

वसुंधरा ने राजमाता को याद किया

बैठक में वसुंधरा राजे ने कहा कि राजमाता (विजया राजे सिंधिया) ने मुझे सिखाया था कि तुम ऐसी पार्टी में काम करती हो, जिसमें देश सबसे ऊपर है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने लोगों की खूब सेवा की।

कांग्रेस में चली खींचतान के दौरान वसुंधरा पर लगे थे आरोप

वसुंधरा राजे ने कोरोना की वजह से सार्वजनिक तौर पर 5 महीने से किसी कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया था। मार्च में लखनऊ में हुई पार्टी में सिंगर कनिका के साथ वसुंधरा राजे नजर आई थीं। कनिका के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद राजे ने भी खुद को क्वारैंटाइन कर लिया था।

कांग्रेस में 36 दिन चली खींचतान के दौरान वे चुप रहीं। इसे लेकर कई कयास लगाए गए। यह भी कहा गया कि अगर सचिन पायलट भाजपा में आए तो वे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का साथ दे सकती हैं।

गुजरात गए थे भाजपा विधायक

राज्य में राजनीतिक संकट के दौरान भाजपा विधायकों ने कुछ वक्त गुजरात में गुजारा था। वे शामलाजी मंदिर और सोमनाथ गए थे। इन लोगों ने वहां जंगल सफारी और चिड़ियाघर की सैर भी की। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने 11 अगस्त शाम 4 बजे जयपुर में भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई थी, लेकिन प्रदेश की राजनीति के सभी समीकरण उलटफेर हो जाने से बैठक निरस्त कर दी गई।

Next Story
Share it
Top