Top
undefined

ढाई महीने की बच्ची को चार बार बेचा गया, दिल्ली पुलिस की मदद से कराया मुक्त

ढाई महीने की बच्ची को चार बार बेचा गया, दिल्ली पुलिस की मदद से कराया मुक्त
X

नई दिल्ली। दिल्ली महिला आयोग की टीम ने एक ढाई माह की बच्ची को बचाने में सफलता हासिल की जिससे कई बार बेचा गया है और इसके साथ ही पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने आज कहा कि कहा, ''बुधवार देर रात से ही हम और हमारी टीम बच्ची की तलाश में जुटी हुई थी। पूरी रात मशक्कत कर, कई जगह छापे मारे और एक इतने बड़े रैकेट जिसमें बच्ची को कई बार बेचा गया उससे छुड़वाया। इस केस में दिल्ली पुलिस का कार्य भी सराहनीय रहा, हम उनका भी धन्यवाद करते हैं। इस मामले में पांच लोग गिरफ्तार भी हुए हैं, हम अब बच्ची के पुनर्वास पर काम कर रहे हैं। महिला आयोग 24 घंटे सातों दिन मुस्तैदी से काम कर रहा है।

मालीवाल ने कहा कि बुधवार देर रात दिल्ली महिला आयोग की महिला पंचायत को अमनप्रीत नामक शख्स ने सूचना दी कि उसने अपनी एक ढाई महीने की बच्ची को परवरिश न कर पाने की वजह से किसी को सौंप दिया था और अब उसे बच्ची के आगे बेचे जाने की सूचना मिली है। उसने आयोग से बच्ची के तस्कर को पकड़वाने की गुज़ारिश की। आयोग की सदस्य फ़रिदौस और किरण नेगी ने जानकारी सुश्री मलिवाल को दी और एक टीम गठित की गई। बेटी के पिता के साथ आयोग की टीम सबसे पहले जाफराबाद पहुंची जहाँ पर इस व्यक्ति ने अपनी बेटी को सबसे पहले मनीषा नाम की महिला को 40 हजार में बेचा था। बताये गए पते पर पहुंचने पर मनीषा वहां नहीं मिली। अमनप्रीत ने मनीषा को फोन किया तो मनीषा ने बताया कि उसने बच्ची को आगे बेच दिया है।

मनीषा की बातचीत से जानकारी लेकर बच्ची के पिता को महिला आयोग की टीम थाने में ले गयी और पुलिस ने उससे पूछताछ की। उसने पूछताछ में बताया कि वो वाहन चालन का कार्य करता है। उसकी पहले से दो बेटियां और हैं, तीसरी बेटी होने पर इसने बच्ची को 40 हजार रुपए में बेच दिया। पूछताछ के दौरान उसने मादीपुर के एक संदिग्ध घर का पता बताया। आयोग की टीम पुलिस और उस व्यक्ति को लेकर मादीपुर के बताये गए पते पर पहुंची तो वहां इंदु नाम की महिला मिली।

इंदु से पूछताछ में पता लगा कि उसने बच्ची को आगे शकूरपुर में राधा नाम की महिला को बेच दिए हैं। इसके बाद टीम शकूरपुर के बताए गए पते पर पहुंची। वहां पर राधा से मिलने पर उसने बताया कि उसने बच्ची को चावड़ी बाजार में रहने वाली अपनी बहन को दिया था। इसके बाद टीम चावड़ी बाजार पहुंची, जहाँ राधा कि बहन ने बताया कि उसने बच्ची को त्रिलोकपुरी में किसी जानकार के पास छोड़ा था। उन्होंने कहा कि आज सुबह बच्ची को बरामद कर लिया गया है और पुलिस ने अमनप्रीत, इंदु, मंजू, मनीषा एवं राधा को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में आगे की कारर्वाई की जा रही है एवं बच्ची के पुनर्वास की ओर भी कार्य शुरू कर दिया गया है।

Next Story
Share it
Top