Top
undefined

उदयपुर में पैंथर ने महिला का किया शिकार, ग्रामीण भयभीत

उदयपुर में पैंथर ने महिला का किया शिकार, ग्रामीण भयभीत
X

उदयपुर। बांसवाड़ा-सलूंबर सड़क मार्ग के बीच गुरुवार शाम उदयपुर जिले के घने जंगल क्षेत्र केवड़ा के नाल में पैंथर ने एक महिला का शिकार कर लिया। उदयपुर के सवीना क्षेत्र की महिला रोजाना की तरह जंगल क्षेत्र में पशुओं को चराने गई थी। इसी दौरान झाड़ियों से निकले पैंथर ने उस पर हमला कर दिया और महिला को मुंह में दबाने के बाद पांच सौ मीटर से अधिक दूरी तक घसीटकर ले गया। महिला के साथ गए अन्य चरवाहों की नजर इस पर पड़ी तो वह भयभीत होकर गांव की ओर दौड़े। घटना के करीब डेढ़ घंटे बाद महिला का क्षतविक्षत शव बरामद हुआ। घटना की सूचना पर सवीना तथा जावरमाइंस की पुलिस, वन विभाग की टीम तथा प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों में इस घटना को लेकर भय बना हुआ है और उन्हें पैंथर के नरभक्षी होने की आशंका है।

बताया गया कि उदयपुर के सवीना क्षेत्र की ओड़ा पंचायत के एकलिंगपुरा में रहने वाले रमेश कुमार मीणा की छत्तीस वर्षीया पत्नी भंवरी बाई आम दिनों की तरह पशुओं को चराने जंगल क्षेत्र में गई थी। इसके अलावा केवड़ा की नाल में अन्य कई चरवाहे भी पशुओं के चराने नियमित जाते हैं। जंगल क्षेत्र में घात लगाए बैठा पैंथर ने महिला की गर्दन से पकड़ा और जंगल में खींच ले गया। वहां पशु चरा रहे अन्य लोगों ने यह घटना देखी तो वह अपने पशुधन को जंगल में छोड़कर एकलिंगपुरा गांव की ओर दौड़े। उन्होंने घटना की जानकारी ग्रामीणों को बताई तो ग्रामीण लाठी तथा अन्य हथियार लेकर एकजुट होकर घटनास्थल की ओर गए। डेढ़ घंटे की तलाश के बाद महिला का क्षतविक्षत शव बरामद हुआ। इस बीच पैंथर उसके कई अंगों को खा चुका था।

ग्रामीण बोले, नरभक्षी हो गया पैंथर

ग्रामीणों का कहना है कि पैंथर नरभक्षी हो गया है। पशुओं की मौजूदगी के बावजूद उसने महिला को ही शिकार बनाया है, जो उसके नरभक्षी होने का सबूत है। सलूम्बर मार्ग पर पूर्व में भी एक पैंथर नरभक्षी हो गया था उसने दो बालिकाओं का शिकार किया था। जिसके बाद जयपुर से आई वन विभाग की टीम ने विशेष अनुमति के बाद उसे गोली मार दी थी। घटनास्थल के आसपास एक दर्जन से अधिक छोटे-छोटे गांव मौजूद हैं और उनके निवासी इस घटना को लेकर भयभीत हैं।

वन विभाग ने लगाए पिंजरे

इधर, वन विभाग भी इस घटना को लेकर सक्रिय हो चुका है। उदयपुर से गई टीम ने एकलिंगपुरा गांव तथा आसपास जंगल क्षेत्र में तीन पिंजरे लगाए हैं। माना करीब शाम 5 बजे की घटना बताई जा रही है। ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। वहां पैंथर की आशंकाओं के चलते ग्रामीण वन विभाग को पहले भी व्यवस्थाओं के लिए कह चुके थे। पैंथर आबादी क्षेत्र के आसपास कई मर्तबा नजर आ चुका है। गुरुवार को हुए इस हादसे से क्षेत्र में भय व्याप्त हो गया है। हालांकि, अभी मामले में अधिकृत रूप से जानकारी उपलब्ध नहीं हो पाई है। संबंधित अधिकारी मौके पर बताए जा रहे हैं जो ग्रामीणों से वार्ता कर रहे हैं और पैंथर की मूवमेंट का पता लगाया जा रहा है।

Next Story
Share it
Top