Top
undefined

गैंगस्टर विकास दुबे 2 घंटे तक पूछताछ की गई, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जज के सामने पेश किया

गैंगस्टर विकास दुबे 2 घंटे तक पूछताछ की गई, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जज के सामने पेश किया
X

उज्जैन. कानपुर के बिकरू में हुए शूटआउट के मुख्य आरोपी विकास दुबे को घटना के 6 दिन बाद गुरुवार सुबह नाटकीय ढंग से उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया। वह महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचा था। गिरफ्तारी के बाद 2 घंटे तक विकास से पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में पूछताछ की गई। खबर है कि उसे वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए जज के सामने पेश किया गया। इससे पहले कोर्ट में वकीलों ने विकास दुबे के खिलाफ नारेबाजी की। इसके चलते कोर्ट में सुरक्षा बढ़ा दी गई।

उज्जैन पुलिस ने लखनऊ के दो वकीलों को भी हिरासत में लिया है। ये अपनी निजी गाड़ी से वहां पहुंचे थे। इसके अलावा, उज्जैन में विकास को ठिकाना देने वाला एक शराब कारोबारी, उसका मैनेजर और दो अन्य लोग हिरासत में लिए गए हैं। इनसे पूछताछ की जा रही है। मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ''गैंगस्टर विकास दुबे मध्यप्रदेश पुलिस की कस्टडी में है। गिरफ्तारी कैसे हुई, इसके बारे में कुछ भी कहना ठीक नहीं है। विकास के दो साथियों बिट्टू और सुरेश को भी गिरफ्तार किया गया है।'' सूत्रों के अनुसार, उज्जैन पुलिस विकास को यूपी एसटीएफ को सीधे सौंपने की तैयारी में है। यूपी एसटीएफ चार्टर्ड प्लेन से इंदौर पहुंचेगी और प्लेन से ही विकास दुबे को अपने साथ लेकर जाएगी।

उज्जैन के कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा, 'विकास सुबह 8 बजे मंदिर परिसर के बाहर एक दुकान पर पहुंचा। उसने दुकानदार सुरेश से पूछा कि दर्शन के लिए रसीद कहां मिलती है। सुरेश को उस पर शक हुआ तो उसने महाकाल मंदिर की सिक्योरिटी को जानकारी दी। सिक्योरिटी ने उस पर नजर रखी। शक होने के बाद उससे पूछताछ की और आईडी कार्ड मांगा। विकास ने फर्जी आईडी कार्ड दिखाया, लेकिन सख्ती से पूछताछ के बाद उसने भागने की कोशिश की।

Next Story
Share it
Top