Top
undefined

मारथोमा ईसाई समुदाय के प्रमुख का 90 साल की उम्र में निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख

मारथोमा ईसाई समुदाय के प्रमुख का 90 साल की उम्र में निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख
X

तिरुवनंतपुरम। केरल के थिरुवल्ला (पथानमथिट्टा) जिले में रविवार तड़के मरथोमा ईसाई समुदाय के आध्यात्मिक प्रमुख जोसेफ मार थोमा का निधन हो गया है। वे 90 साल के थे। वे 2007 से मारथोमा ईसाई समुदाय के प्रमुख थे। जून की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके 90वें जन्मदिन के अवसर पर समारोहों का उद्घाटन किया था। प्रधानमंत्री ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

मारथोमा ईसाई समुदाय के बहुत सारे अनुयायी हैं। इनमें से कई जोसेफ मार थोमा को एक ऐसे नेता के तौर पर देखते हैं जो दूरदृष्टि और करुणा के साथ मानवता की भलाई के लिए खड़े रहते हैं। मारथोमा सीरियन चर्च केरल में स्थित एक सुधारित प्राच्य सीरियाई चर्च है।

मारथोमा ईसाई समुदाय के सदस्यों का मानना है कि वे सेंट थॉमस के वंशज हैं, जो यीशु मसीह के 12 ईसाई धर्म के प्रचारकों में से एक हैं। यह स्वदेशी चर्च देश में कई शैक्षिक और स्वास्थ्य संस्थान भी चलाता है।

जोसेफ मार थोमा के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, 'डॉ. जोसेफ मार थोमा मेट्रोपॉलिटन (मार थोमा चर्च के प्रमुख) एक उल्लेखनीय व्यक्तित्व वाले शख्स थे जिन्होंने मानवता की सेवा की और गरीबों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए कड़ी मेहनत की। उनमें सहानुभूति और विनम्रता की प्रचुरता थी। उनके नेक आदर्शों को हमेशा याद किया जाएगा। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।'

Next Story
Share it
Top