Top
undefined

कोरोना के बाद मानसून ने मचाई तबाही-बाढ़ और भूस्खलन ने ली 900 से ज्यादा लोगों की जान

कोरोना के बाद मानसून ने मचाई तबाही-बाढ़ और भूस्खलन ने ली 900 से ज्यादा लोगों की जान
X

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के देश में मानसून ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई। मानसून कई परिवार पर पहाड़ बन कर टूटा। इस साल मानसून से 16 राज्य बेहाल हुए। इतना ही नहीं इन 16 राज्यों में बाढ़ और लैंडस्लाइड के कारण अब तक 900 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। बीते शुक्रवार को केरल में भूस्खलन से 33 लोगों की मौत हो गई और 6 अगस्त तक 33 लोग बाढ़ और भूस्खलन में अपनी जान गंवा चुके थे। इसके अलावा पश्चिम बंगाल, असम, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र भी प्रभावित राज्यों में से एक हैं।

बाढ़ से लाखों लोग हुए प्रभावित

इस साल बाढ़ से बिहार में 69 लाख लोग और असम में 57 लाख लोग प्रभावित हुए और उनके घर तबाह हो गए। वहीं लाखों लोग बेघर भी हुए। लोगों की आजीविका भी बुरी तरह से प्रभावित हुई। बेघर हुए लोग अब रिलीफ कैंपों में रह रहे हैं। केंद्र सरकार ने नैशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (NDRF) की 141 टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में लगाई हैं। इसके अलावा स्टेट डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (SDRF) भी राहत कार्यों में जुटी हुई हैं।

बीते 10 दिनों में 200 लोगों की मौत

बाढ़ और भूस्खलन से बीते दस दिनों में 200 लोगों की मौतें हुई हैं। सबसे ज्यादा मौतें पश्चिम बंगाल में हुईं। यहां 239 लोगों की मौत हुई और असम में 136, गुजरात में 87, कर्नाटक में 74 और मध्य प्रदेश में भी 74 लोगों की जान गई। वहीं आंकड़ा और बढ़ सकता है कियोंकि कई राज्यों में अब भी बारिश का कहर जारी है। वहीं ज्यादातर राज्यों ने अभी अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजी भी नहीं है। बाढ़ और भूस्खलन से पशुधन की भी काफी हानि हुई है।

Next Story
Share it
Top