Top
undefined

11 पाकिस्तानी शरणार्थियों की मौत में हैं कई पेच, शवों पर इंजेक्शन के निशान और सुसाइड नोट से बढ़ा सस्पेंस

राजस्थान के जोधपुर जिले में एक पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्य की मौत मामले में कई पेंच सामने आ आ रहे हैं। शवों की हालत और सुसाइड नोट मिलने के दावे ने पूरे केस में सस्पेंस बढ़ा दिया है।

11 पाकिस्तानी शरणार्थियों की मौत में हैं कई पेच, शवों पर इंजेक्शन के निशान और सुसाइड नोट से बढ़ा सस्पेंस
X

जोधपुर, राजस्थान के जोधपुर जिले में एक पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्य एक खेत में मृत पाए गए। पुलिस ने यह जानकारी दी। मृतकों में पांच बच्चे और चार महिलाएं शामिल हैं। एक अधिकारी ने कहा कि परिवार का एक सदस्य देचु इलाके के लोडता गांव में उस झोपड़ी के बाहर जिंदा मिला जहां ये लोग रहते थे। यह इलाका जोधपुर शहर से करीब 100 किलोमीटर दूर है। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) राहुल बरहाट ने कहा, 'लेकिन उसने घटना की कोई जानकारी न होने का दावा किया। ऐसा माना जा रहा है कि यह घटना रात की है।'

पुलिस कर रही पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार

उन्होंने कहा कि इस बात की जांच की जा रही है कि यह खुदकुशी है या कुछ और मामला है। एसपी ने कहा, 'हम अभी यह बताने की स्थिति में नहीं है कि यह खुदकुशी थी, दुर्घटनावश हुई मौत या कुछ और। हमने शवों को चिकित्सा बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार करेंगे।'

घर से कीटनाशक के कनस्तर बरामद

उन्होंने कहा कि कीटनाशक का आधा इस्तेमाल हुआ कनस्तर और कुछ शीशियां झोपड़ी से बरामद हुई हैं। पुलिस को मौके से एक नोट भी मिला है और लिखावट का सत्यापन किया जा रहा है। भील समुदाय से जुड़े परिवार के सभी सदस्य पाकिस्तान के हिंदू शरणार्थी थे और गांव में खेत में रह रहे थे जिसे उन्होंने खेतीबाड़ी के लिए छह महीने पहले बटाई पर लिया था। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के रहने वाले ये लोग दीर्घकालिक वीजा पर 2015 में यहां आए थे और तभी से यहां रह रहे थे।

परिवार में पति-पत्नी के बीच विवाद की भी हुई है पुष्टि

पुलिस अधीक्षक ने कहा, 'किसी के भी शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं हैं और न ही किसी तरह की साजिश के सबूत हैं लेकिन हमने फॉरेंसिक टीम और श्वान दल बुलाया है।' प्रारंभिक सूचना से पता चला है कि किसी मुद्दे को लेकर परिवार में विवाद था। उन्होंने कहा, 'जीवित बचे व्यक्ति से पूछताछ करने के बाद ही हम इस घटना के बारे में कुछ कहने की स्थिति में होंगे।' इस बीच परिवार के जीवित बचे सदस्य केवल राम (35) ने अपनी पत्नी के परिवार वालों के खिलाफ शिकायत देते हुए आरोप लगाया कि यह खुदकुशी का नहीं हत्या का मामला है। इसकी पुष्टि करते हुए एसपी ने कहा कि विवाद की वजह से बीते कुछ समय से उसकी पत्नी परिवार के साथ नहीं रह रही थी। उन्होंने कहा कि केवल राम की पत्नी कथित तौर पर बच्चों को अपने साथ रखने के लिये उस पर दबाव डाल रही थी।

Next Story
Share it
Top