Top
undefined

गलवांन घाटी झड़प के बाद चीन ने विश्वास खोया: जयशंकर

गलवांन घाटी झड़प के बाद चीन ने विश्वास खोया: जयशंकर
X

नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि बीते साल पूर्वी लद्दाख की गलवां घाटी में हुई झड़प के बाद चीन से भारत का भरोसा उठा है, वहीं दूसरी ओर अमेरिका से भारत के संबंध बेहतर हुए हैं। वाशिंगटन में नए प्रशासन के तहत इसमें और विस्तार होने की संभावना है।

जयशंकर ने पूर्वी लद्दाख में चीन से जारी तनातनी पर कहा, पिछले साल बिना किसी स्पष्ट कारण के चीन सीमा के एक हिस्से पर बड़ी सेना के साथ पहुंचा। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जब हमने उन्हें आते देखा तो जाहिर तौर पर हम भी आगे बढ़े।

इससे एलएसी पर कई जगहों पर संघर्ष हुआ। 45 साल बाद आप वास्तव में सीमा पर रक्तपात कर चुके थे। इसका जनमत और राजनीतिक रूप से काफी असर हुआ। चीन ने भरोसा खोया और दोनों देशों के संबंध खराब हुए।

जयशंकर ने कहा, बीते कुछ वर्षों में अमेरिका और भारत के रिश्ते उभार पर हैं और बाइडन प्रशासन में भी इनमें विस्तार जारी रहेगा। जयशंकर ने कहा, मैं जब आज की चुनौतियों को देखता हूं तो अमेरिका हमारे अहम भागीदारों में रहने वाला है। मुझे विश्वास है कि हम इन संबंधों को और बेहतर बनाएंगे। संरचनात्मक रूप अमेरिका के साथ रिश्ते बेहद ध्वनिमय हैं।

विदेशमंत्री ने कहा कि अगर बाइडन प्रशासन की ओर से मुक्त व्यापार को लेकर हमें कोई न्योता मिलता है तो हम इसका सकारात्मक जवाब देंगे।

Next Story
Share it