Top
undefined

दुष्कर्म के आरोपों पर बोले धनंजय मुंडे- मैंने शरद पवार को सब बता दिया, उनका फैसला मुझे स्वीकार

दुष्कर्म के आरोपों पर बोले धनंजय मुंडे- मैंने शरद पवार को सब बता दिया, उनका फैसला मुझे स्वीकार
X

मुम्बई। बलात्कार का आरोप झेल रहे महाराष्ट्र के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे के इस्तीफे की मांग के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने गुरुवार को कहा कि मुंबई की महिला द्वारा उनपर लगाए गए आरोप गंभीर हैं और इस मुद्दे पर पार्टी में विचार के बाद फैसला लिया जाएगा। राकांपा प्रमुख शरद पवार ने कहा कि मंत्री के खिलाफ लगे आरोप गंभीर प्रकृति के हैं और पार्टी आपस में इस मुद्दे पर चर्चा करके शीघ्र फैसला करेगी।

पवार ने पत्रकारों से कहा कि मुंडे (45) ने बुधवार को उनसे भेंट करके आरोपों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा, ''मुझे लगता है कि उनके (मुंडे) खिलाफ लगे आरोप गंभीर हैं। ऐसे में हमें इस मुद्दे पर पार्टी में चर्चा करनी होगी। मैं अपने महत्वपूर्ण सहयोगियों के साथ इसपर विस्तार से चर्चा करुंगा और उन्हें विश्वास में लूंगा।'' उन्होंने कहा, ''उनके विचार जानने के बाद आगे कदम उठाया जाएगा। हम यह यथाशीघ्र करेंगे।'' मुंडे ने संवाददाताओं से कहा कि उनके इस्तीफे के मामले में पवार और पार्टी के अन्य नेता फैसला लेंगे।

महाराष्ट्र राकांपा के अध्यक्ष और मंत्री जयंत पाटिल ने कहा कि किसी ने आरोप लगाए हैं सिर्फ इस आधार पर मुंडे इस्तीफा नहीं देंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर राकांपा में चर्चा होगी और तथ्यों के आधार पर फैसला लिया जाएगा। पत्रकारों से बातचीत में जयंत पाटिल ने कहा कि मामले की पुलिस जांच के परिणाम के आधार पर ही कोई निष्कर्ष निकाला जाएगा। जल संसाधन मंत्री ने कहा कि अभी तक पार्टी में मुंडे के इस्तीफा को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है और न हीं उन्होंने इस्तीफे की पेशकश की है।

जयंत पाटिल ने कहा कि मुंडे को ब्लैकमेल किया जा रहा है और उन्होंने इस संबंध में पुलिस में शिकायत भी दर्ज करायी है। उन्होंने कहा कि हमें पुलिस जांच के परिणाम के आधार पर ही कोई निष्कर्ष निकालना चाहिए और हमें यूंही किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचना चाहिए। जयंत पाटिल ने कहा कि मुंडे ने महिला द्वारा कथित रूप से ब्लैकमेल किए जाने का मामला बांद्रा थाने में दर्ज कराया था लेकिन पुलिस ने उसपर कोई संज्ञान नहीं लिया। उन्होंने कहा, इसी कारण मुंडे इस मामले में उच्च न्यायालय भी गए। उन्होंने कहा, ''अब पुलिस को इस मामले में प्राथमिक जांच करनी चाहिए। मुझे विश्वास है कि आप इसपर संज्ञान लेंगे कि कोई महिला अनर्गल आरोप लगाकर एक नेता को बदनाम करने का प्रयास कर रही है।''

गौरतलब है कि राज्य में शिवसेना-राकांपा-कांगेस गठबंधन की सरकार सत्ता में है। पाटिल ने कहा कि पार्टी के भीतर हालात की समीक्षा की जाएगी। जरुरत होने पर हम तथ्यों के आधार पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के स्तर पर उचित रुख लेंगे।

Next Story
Share it