Top
undefined

कपिल सिब्बल बोले, बिना किसी नेशनल प्लान के सरकार ने लॉकडाउन कर दिया, देश में उतनी टेस्टिंग नहीं हो रही है जितनी होनी चाहिए

कांग्रेस नेता ने सरकार की तैयारियों पर सवाल भी उठाए. उन्होंने कहा कि बिना किसी नेशनल प्लान के सरकार ने लॉकडाउन कर दिया.

कपिल सिब्बल बोले, बिना किसी नेशनल प्लान के सरकार ने लॉकडाउन कर दिया, देश में उतनी टेस्टिंग नहीं हो रही है जितनी होनी चाहिए
X


नई दिल्ली।वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने एबीपी न्यूज़ के 'e-शिखर सम्मेलन' में हिस्सा लिया. इस दौरान उन्होंने कोरोना वायरस को लेकर जारी जंग को लेकर अपने सुझाव दिए. कांग्रेस नेता ने सरकार की तैयारियों पर सवाल भी उठाए. उन्होंने कहा कि बिना किसी नेशनल प्लान के सरकार ने लॉकडाउन कर दिया.

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि ''देश में उतनी टेस्टिंग नहीं हो रही है जितनी होनी चाहिए. उन्हीं लोगों की टेस्टिंग हो रही है जो सामने आ रहे हैं. ग्रामीण क्षेत्रों और देहात में कोई टेस्टिंग नहीं हो रही है.'' उन्होंने आरोप लगाया कि ''सरकार ने बिना किसी योजना के लॉकडाउन कर दिया. अब सरकार को राष्ट्रीय योजना बनाकर आगे बढ़ना होगा.''

कपिल सिब्बल ने कहा, ''इस समय मैं सरकार की ज्यादा आलोचना नहीं करना चाहता. 24 मार्च को सरकार ने लॉकडाउन लागू करने के लिए चार घंटे का समय लिया. जनवरी के आखिर में WHO ने इसे आपातकाल घोषित किया लेकिन उसके बाद फरवरी में हमारी सरकार ने कहा कि यह कोई इमरजेंसी नहीं है. लेकिन हो गया सो हो गया हमें आगे के लिए सोचना चाहिए. सरकार ने कोई प्लान नहीं बनाया. ना नेशनल लेवल पर, ना राज्य स्तर पर और ना जिला स्तर पर. हमारे यहां टेस्टिंग भी बहुत काम है. अमेरिका में आज एक लाख टेस्ट रोजाना होते हैं.''

सिब्बल ने कहा, ''लॉकडाउन के एलान के वक्त प्रधानमंत्री ने सिर्फ चेतावनी दी, कोई प्लान नहीं बताया. ब्रिटेन में प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री ने कहा कि जिसकी नौकरी जाएगी 80% पैसा सरकार देगी. हमारे यहां प्रधानमंत्री ने कुछ ऐसा नहीं कहा. हमारे यहां नेशनल डिजास्टर एक्ट में सब कुछ लिखा है कि कैसे क्या होगा. आज देश के 24% यानी 10 करोड़ लोग बेरोजगार हैं.''

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा, ''पीएम और गृहमंत्री देश को बताएं कि सरकार क्या तैयारी कर रही है. अब आगे वो क्या करने वाले हैं. प्रधानमंत्री ने अब तक नहीं बताया कि कोरोना से निपटने का क्या प्लान है. सिर्फ ताली बजाकर इस महामारी का सामना कैसे करेंगे. उन्होंने कहा, आज सिर्फ उन्हीं की टेस्टिंग हो रही है जिनमें लक्षण दिख रहे हैं. लेकिन आज यह बीमारी ऐसी है कि जिसमें लक्षण नहीं दिख रहे हैं. इसलिए हमें देखना होगा कि हम किसका टेस्ट कर रहे हैं. सारे देशों में बिना लक्षण वाले लोगों की टेस्टिंग हो रही है. विश्व भर में जो नियम है, हमें उसी हिसाब से चलना चाहिए.''

Next Story
Share it