Top
undefined

अपने भाइयों को अमिताभ बच्चन की मिसाल देती हैं हेमा मालिनी, अमित जी शारीरिक से ज्यादा मानसिक तौर पर मजबूत हैं

अपने भाइयों को अमिताभ बच्चन की मिसाल देती हैं हेमा मालिनी, अमित जी शारीरिक से ज्यादा मानसिक तौर पर मजबूत हैं
X

मुंबई। मैं पूरी तरह ठीक हूं। अफवाह थी कि मुझे भी कोरोना संक्रमण हुआ है। अमित जी को संक्रमण कैसे हुआ है यह तो मुझे नहीं मालूम। पर उनको माइल्ड स्टेज का है। मुझे पूरा यकीन है कि वे इससे उबर कर यकीनन बाहर आएंगे। फाइटर इंसान हैं वे। बहुत अलग-अलग दिक्कतें उनको रही हैं। अपनी जिंदगी में कई बार वे हॉस्पिटलाइज होते रहें, मगर हमेशा हर बार फाइट बैक कर वापस आते रहे हैं। हम सब उनके लिए प्रार्थना कर रहे हैं। वे यकीनन हेल एंड हार्टी यानी पूरी तरह तंदुरुस्त हो जाएंगे। वे भी और अभिषेक भी।

हेमा को काम करने के लिए प्रेरित करते रहे हैं बिग बी

हम लोग हमेशा एक दूसरे का कुशलक्षेम लेते रहते हैं। इस बार भी वे बिल्कुल ठीक हो जाएंगे। इसमें कोई दो राय है ही नहीं। दरअसल शारीरिक से ज्यादा वह मानसिक तौर पर मजबूत रहे हैं। मुझे हमेशा कहते भी रहे हैं कि कभी भी खाली मत बैठना हेमा जी। कुछ ना कुछ करते रहना, उससे शरीर और मन दोनों तंदुरुस्त रहेंगे। एनर्जी महसूस होती रहेगी। दिमाग को कभी भी सुस्त होने ही मत दीजिएगा। खाली तो कतई मत बैठने दीजिएगा उसको। कुछ ना कुछ करते रहेंगे तो ब्रेन एक्टिव रहेगा ही। कभी कोई बहाना नहीं बनाने का कि अभी तो लॉकडाउन हो गया। अभी तो बरसात है। काम कैसे करें? बिल्कुल नहीं।

यही वजह है कि मैं अब भी डांस प्रैक्टिस करती ही रहती हूं। बावजूद इसके कि उम्र के इस मोड़ पर इसकी कोई जरूरत नहीं। मगर मैं भरतनाट्यम की लगातार कोई न कोई विधा सीखती ही रहती हूं। इसके चलते आपकी याददाश्त तो बरकरार रहती ही है साथ ही आप फोकस भी कर पाते हैं। आपका शरीर और मन दोनों लगातार काम कर रहा होता है। बाकी योगा तो करती रहती हूं मैं।

एहतियात के साथ शूटिंग शुरू करनी चाहिए

रहा सवाल 65 से ज्यादा उम्र वाले कलाकारों को काम पर जाने का, तो यह जो अमित जी को हुआ है, यकीनन सब को डर तो लग रहा होगा। मगर मेरा कहना है कि अगर आप में गट्स हैं तो आपको जरूर शूटिंग करना चाहिए। एहतियात बरतें मगर हां डोंट बी फूलिश। यह कतई ना सोचें कि मुझे तो कुछ होगा ही नहीं। काम पर ये सोचकर निकलें कि कुछ भी हो सकता है। उसे ध्यान में रखते हुए एहतियात बरतें और सतर्क रहें। एक अजीब तरह की महामारी है यह। यहां काम पर भी जाना है और बचकर भी रहना है। भगवान से तो यही प्रार्थना करूंगी कि सबको जल्द से जल्द ठीक कर दे।

ये सब काफी डरावना है

कलाकार बिरादरी के लोग बैठ-बैठ कर थक तो चुके हैं। कई लोगों ने काम शुरू कर दिया है। हालांकि बड़ी अजीब सी स्थिति तो अब भी है। घर से बाहर निकलने पर ही अगर ऐसा संक्रमण हो रहा है तो यह डरावना है ना। लिहाजा अभी तो इसका जवाब सामने नहीं आ पा रहा है कि कब से पूरी तरह काम शुरू हो जाएगा? क्योंकि यह किसी को भी हो सकता है। लिहाजा किसी को भी फूलिशली बोल्ड नहीं होना चाहिए।

धर्मेंद्र फार्महाउस में सुरक्षित हैं

धरम जी बहुत अच्छे हैं। फार्म हाउस पर हैं। उधर पूरी तरह से सिक्योर्ड माहौल है। शहरों में ज्यादा प्रॉब्लम है। वहां वे फार्मिंग भी कर रहे हैं। मैं वहां नहीं जा पा रही हूं, क्योंकि मैं दोनों बेटियों और ग्रैंडचिल्ड्रन में बिजी हूं। इनको भी छोड़ कर कहीं जाओ तो टेंशन लगी रहती है। मेरी बेटियां तो और भी मुझे कहीं बाहर नहीं निकलने दे रहीं हैं। अब ऐसा समय आ गया है कि वे ही मेरा ख्याल रख रही हैं।

भाईयों को देती हूं अमित जी का उदाहरण

बच्चन साहब की एक और खूबी मुझे याद आ रही है कि कुली के बाद जब हमने साथ में काम किया था, तो भी उनके चेहरे पर शिकन नहीं देखी थी, कि इतनी मेजर सर्जरी से वो बाहर निकले हैं। एल्डरली पीपल को तो उनसे सीख लेनी चाहिए। मैं तो अपने भाइयों को भी बोलती रहती हूं कि देखो- अमित जी से सीखो। एक्टिव रहो उनकी तरह।

Next Story
Share it
Top