Top
undefined

सोनू सूद की मदद का सिलसिला लॉकडाउन खुलने के बाद भी जारी है

सोनू सूद की मदद का सिलसिला लॉकडाउन खुलने के बाद भी जारी है
X

मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने वाले मसीहा सोनू सूद अभी थमे नहीं हैं। उनकी मदद का सिलसिला अभी जारी है। सोनू ने इस बार मुंबई पुलिस के जवानों के लिए 25 हजार फेसशील्ड डोनेट किए। इस बात की जानकारी महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट के जरिए दी। उन्होंने सोनू से मुलाकात की दो फोटोज भी शेयर की हैं।

सोनू ने ट्वीट किया शेयर

सोनू ने अनिल देशमुख के ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए लिखा- आपके शब्दों से बेहद सम्मानित हूं सर। पुलिस के रूप में काम कर रहे मेरे भाई-बहन ही हमारे सच्चे हीरो हैं। जो काम समर्पण के तौर पर वे कर रहे हैं, उनके लिए मैं इतना तो कर ही सकता हूं। जय हिंद।

अब सोनू के काम पर आएगी किताब भी

आईएमबज की एक रिपोर्ट के अनुसार सोनू सूद पिछले महीनों अपने साथ हुई घटनाओं की कहानी लिखेंगे। पेंगुइन पब्लिकेशन इस अनटाईटल किताब के जरिए सोनू को वे सारे लम्हे वापस जीने का मौका देगा। जो उन्होंने लॉकडाउन के दौरान प्रवासियों को उनके घर वापस भेजने के दौरान जिए हैं। सोनू ने कहा कि भाग्य से यह सब रिकॉर्ड किया गया है। सारी सूचनाएं भी हैं जब प्रवासी अपने घर गए। इसके लिए कम्प्यूटर का धन्यवाद जिसने सब सुरक्षित रखा, वरना यह संभव नहीं हो पाता।

किर्गिस्तान के स्टूडेंट्स की मदद भी करेंगे

सोनू ने 15 जुलाई को अपने कुछ ट्वीट्स में किर्गिस्तान में फंसे भारतीय स्टूडेंट्स की मदद की बात भी कही है। उन्होंने एक मेल आईडी (sonu4kyrgyzstan@gmail.com) शेयर की है। ट्वीट में जिक्र है कि केवल यही इमेल आईडी ही भारतीय छात्रों के रेस्क्यू के लिए यूज की जा रही है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी लिखा कि टीम सोनू सूद इस काम के लिए आपसे किसी भी तरह का पैसा नहीं ले रही है। न ही इसकी व्यवस्था करने लिए कोई फंड जोड़ रही है।

Next Story
Share it
Top