Top
undefined

शेखर गुप्ता के बाद अब अदनान सामी ने खोली अवॉर्ड शो की पोल

शेखर गुप्ता के बाद अब अदनान सामी ने खोली अवॉर्ड शो की पोल
X

नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद जहां एक तरफ नेपोटिज्म के साथ इंडस्ट्री के कई गहरे रहस्य सामने आ रहे हैं वहीं दूसरी तरफ अब अवॉर्ड फंक्शन की पोल खुलने लगी है। सीनियर जर्नलिस्ट शेखर गुप्ता ने हाल ही में अपना एक वीडियो शेयर किया था जिसमें उन्होंने करन जौहर का नाम लेते हुए बताया था कि कुछ फिल्ममेकर्स अवॉर्ड फंक्शन में हस्तक्षेप करते हैं। अब शेखर गुप्ता के बाद अदनान सामी ने भी अवॉर्ड फंक्शन का बड़ा राज खोला है। अपना अनुभव शेयर करते हुए अदनान ने बताया कि उन्हें ऐसे ही एक शो में बिना फीस के परफॉर्म करने के बदले अवॉर्ड देने का ऑफर मिला था हालांकि उन्होंने इस तरह अवॉर्ड खरीदने से इनकार कर दिया था।

अदनान ने ये खुलासा डायरेक्टर शेखर कपूर के ट्वीट के जवाब में किया है। शेखर कपूर ने जर्नलिस्ट शेखर गुप्ता का आर्टिकल शेयर करते हुए अवॉर्ड को सराहना के बदले समझौता बताया है। उन्होंने लिखा, 'बॉलीवुड फिल्म अवॉर्ड क्रिएटिविटी की सराहना नहीं बल्कि एक समझौता है। क्या आप स्टेज पर डांस करोगे अगर मैं आपको अवॉर्ड दूंगा तो'।

शेखर का जवाब देते हुए अदनान ने भी अपना अनुभव शेयर किया है। उन्होंने लिखा, 'बिल्कुल सही। मैं इस तरह के समझौते का अनुभव कर चुका हूं जहां वो लोग चाहते थे कि मैं उनके लिए फ्री मैं परफॉर्म करूं जिसके बदले मुझे अवॉर्ड मिलता। मैंने उनसे कहा कि मैं कभी अवॉर्ड नहीं खरीदूंगा। मेरी गरिमा और सेल्फ रिस्पेक्ट ही है जो मैं अपनी कब्र में लेकर जाऊंगा'।

शेखर गुप्ता ने लगाए करन जौहर पर आरोप

शेखर इंडियन एक्सप्रेस समूह के प्रमुख थे। उस जमाने में वह समूह स्क्रीन अवार्ड नामक पॉपुलर अवार्ड शो आयोजित करता था। साल 2011 में हुए ऐसे ही एक अवॉर्ड शो में शाहरुख खान की फिल्म 'माय नेम इज खान' को नॉमिनेशन नहीं दिया गया था। इससे करन और उनकी टीम मेंबर इतने नाराज हुए कि उन्होंने शेखर गुप्ता को कई कॉल करवाए। शाहरुख और करन उस शो के प्रेजेंटर थे ऐसे में काफी संगीन माहौल बन चुका था। मामला सुलझाने के लिए बाद में शाहरुख खान को पॉपुलर च्वाइस अवॉर्ड दिया गया। करन की टीम का मानना था कि अमोल पालेकर उस शो के ज्यूरी मेंबर थे इसलिए पर्सनल कारणों से उन्हें अवॉर्ड नहीं दिया गया।

Next Story
Share it
Top