Top
undefined

महेश भट्ट की कंट्रोवर्शियल लाइफ:शादीशुदा होते हुए भी परवीन बाबी से रहा एक्स्ट्रा-मेरिटल अफेयर, धर्म बदलकर की दूसरी शादी

महेश भट्ट की कंट्रोवर्शियल लाइफ:शादीशुदा होते हुए भी परवीन बाबी से रहा एक्स्ट्रा-मेरिटल अफेयर, धर्म बदलकर की दूसरी शादी
X

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद फिल्ममेकर महेश भट्ट लगातार राडार पर हैं। खबरें थीं कि महेश ने ही रिया चक्रवर्ती को सुशांत से रिश्ता तोड़ने की सलाह दी थी। महेश की सलाह पर ही रिया ने 8 जून को सुशांत का घर छोड़ दिया था। घर छोड़ने के बाद रिया ने महेश भट्ट को मैसेज किए थे जिसके स्क्रीनशॉट सामने आ चुके हैं। ऐसे में सुशांत के फैन्स उनकी संदिग्ध मौत के मामले महेश भट्ट पर लगातार सवाल उठा रहे हैं और वह एक बार फिर विवादों में फंस गए हैं।

71 साल के महेश भट्ट डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और स्क्रीन राइटर हैं। उन्होंने हिंदी सिनेमा को कई बेहतरीन फिल्मों से नवाजा है लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि उनकी पर्सनालिटी बेहद विवादित है।

आज हम नजर डालेंगे महेश भट्ट की विवादित लाइफ पर

20 सितंबर 1948 को मुंबई में जन्मे महेश भट्ट के पिता हिंदू तो मां मुस्लिम थीं। उनकी स्‍कूली पढ़ाई डॉन बोस्‍को हाई स्‍कूल, माटुंगा, मुंबई से हुई थी। स्‍कूल के दौरान ही उन्‍होंने पैसा कमाने के लिए समर जॉब्‍स शुरू कर दी थी। उन्‍होंने प्रोडक्‍ट विज्ञापन भी बनाए।

लोरिएन ब्राइट से की पहली शादी

महेश भट्ट खासकर अपनी लव लाइफ को लेकर सुर्खियों में रहे। वह जब 20 साल की उम्र में कॉलेज में पढ़ रहे थे तो लोरिएन नाम की लड़की पर उनका दिल आ गया था। लोरिएन कैथोलिक थीं और मुंबई के अनाथालय में रहकर पढ़ती थीं।

एक इंटरव्यू में महेश भट्ट ने कहा था, ''मैं अनाथालय की दीवार कूदकर उनसे मिलने जाता था, लेकिन एक बार जब हम पकड़े गए तो उन्हें वह जगह छोड़नी पड़ी। मैंने YWCA में उनका एडमिशन करवा दिया ताकि वो टाइपिस्ट बनकर अपने लिए कुछ कर सकें। मैं भी काम करता रहा। मैंने डालडा और लाइफ ब्वॉय के लिए एड बनाए।

इसके बाद 20 साल की उम्र में लोरिएन और महेश ने 20 साल की उम्र में शादी कर ली। लोरिएन ने अपना नाम बदलकर किरण रख लिया। शादी के बाद लोरिएन ने बेटी पूजा भट्ट को जन्म दिया लेकिन जल्द ही लोरिएन-महेश के रिश्तों में दरार आ गई। दोनों अलग हो गए लेकिन तलाक नहीं लिया।

परवीन बाबी से रहा एक्स्ट्रा-मेरिटल अफेयर

लोरियन से तलाक लिए बिना महेश परवीन बाबी के साथ एक्स्ट्रा-मेरिटल अफेयर में आ गए। परवीन महेश से तब मिलीं जब वह अपने करियर के पीक पर थीं। दोनों लिव इन में साथ रहने लगे। लेकिन इस प्यार भरी कहानी का अंत बेहद दर्दनाक हुआ।

डॉक्टरों के अनुसार, परवीन मानसिक रूप से बीमार थीं और उस बीमारी का इलाज भी संभव नहीं था। महेश ने अमेरिका तक में उनका इलाज करवाया, लेकिन वो ठीक नहीं हुईं। इससे परेशान होकर महेश ने परवीन को छोड़ दिया और पहली पत्नी किरण के पास वापस लौट आए। इस दौरान बेटे राहुल भट्ट का जन्म हुआ।

इसके बाद महेश पर परवीन के स्टारडम का फायदा उठाने और उन्हें इस्तेमाल करने का आरोप तक लगा। इसी दौरान महेश ने फिल्म 'अर्थ' लिखनी शुरू की थी, जो उनकी जिंदगी की सच्चाई थी। परवीन ने अपनी जिंदगी के अंतिम दिन अकेले ही काटे और जनवरी 22, 2005 को मौत की आगोश में चली गईं। तब उनकी डेड बॉडी क्लैम करने के लिए महेश भट्ट ही आगे आए थे।

धर्म बदलकर की सोनी राजदान से शादी

परवीन से दूरी बनाने के बाद महेश भट्ट की सोनी राजदान से नजदीकियां बढ़ीं। सोनी ने उनकी फिल्म सारांश में काम किया था। दोनों एक-दूसरे से प्यार कर बैठे और सोनी ने महेश को पिछले दो रिश्तों की बुरी यादों से बाहर निकाला।

सोनी के पिता ने महेश भट्ट से कहा कि बेटी से शादी करने से पहले वह किरण से अपनी पहली शादी तोड़ दें लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। तब महेश ने इस्लाम धर्म अपनाकर सोनी से शादी कर ली। इसके बाद महेश बेटी शाहीन और आलिया के पिता बने।

बेटी के साथ फोटोशूट ने मचाया बवाल

महेश भट्ट का बेटी पूजा के साथ एक मैगजीन के लिए कराया गया फोटोशूट सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहा था। सालों पहले स्टारडस्ट मैगजीन के लिए उन्होंने पूजा के साथ लिपलॉक सीन दिया था। ये फोटोशूट मैगजीन ने कवर पेज पर छापा था। इस कवर पेज की हेडलाइन थी-अगर पूजा मेरी बेटी ना होती तो मैं उससे शादी कर लेता। इस फोटो ने इतना विवाद खड़ा किया कि पूजा और महेश भट्ट, दोनों ने इस फोटो को फेक बताया था।

Next Story
Share it
Top